अमेरिका से बाहर दूसरे देश ने तैयार की थी डॉनल्ड ट्रंप की जीत की रणनीति!

नई दिल्ली:  अमेरिका के नव निर्वाचित राष्ट्रपति डॉन्ल्ड ट्रंप की जीत के लिए दूसरे देश ने रणनीति तैयार की थी। अमेरिकी खुफिया एजेंसी सीआईए ने ये जानकारी एक सीक्रेट मीटिंग में कुछ अमेरिकी सांसदों को दी है। सूत्रों के मुताबिक सीआईए ने उन लोगों की पहचान भी कर ली है जिन्होंने अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव के दौरान ट्रंप की जीत में भूमिका निभाई थी।

सीआईए ने जिन लोगों की पहचान की है वो रुस के भी संपर्क में रहे थे। सीआईए सूत्रों के मुताबिक जिन लोगों ने ट्रंप की जीत में भूमिका निभाई थी वो सभी खुफिया विभाग से ताल्लुक रखते हैं। इन्होंने हिलरी के चुनाव प्रचार को कमजोर और ट्रंप के चुनाव प्रचार को मजबूत करने के लिए हर तरह की भूमिका निभाई। सीआईए के अफसरों ने कुछ अमेरिकी सांसदों के साथ हुई सीक्रेट मीटिंग में इस बात की जानकारी दी।

सीआईए ने सांसदों से कहा अब ये साफ हो चुका है कि रूस का मकसद केवल ट्रंप की जीत था। हलांकि अक्टूबर में अमेरिकी सरकार ने भी आरोप लगाया था कि रूस साइबर अटैक कर डेमोक्रेटिक पार्टी के प्रचार को नुकसान पहुंचा रहा है। ओबामा ने इस बारे में रुस के राष्ट्रपति ब्लादिरमीर पुतिन को इस बारे में जानकारी दी थी। वहीं ट्रंप की तरफ राष्ट्रपति चुनाव की जीत में रुस की भूमिका या रूस की मदद लेने की बात को खारिज किया जा चुका है।

सीआईए जो आरोप लगा रही है उसमें कितना दम है या कितनी सत्याता है ये साबित होना अभी बाकी है। क्योंकि जो दावा सीआईए कर रही है अमेरिका की बाकी 17 खुफिया एजेंसियों की राय उससे अलग है। उन बाकी एजेंसियों ने इस बारे में कुछ नहीं कहा है। हलांकि इसपर एक अमेरिकी अधिकारी ने कहा कि अभी काफी सवाल अनुत्तर हैं। उनका जवाब सामने आने के बाद हो सकता है उनकी राय भी बदल जाए।

Loading...

Leave a Reply