डोकलाम के चुंबी घाटी में अभी भी मौजूद हैं चीनी सैनिक- वायु सेना प्रमुख

डोकलाम के चुंबी घाटी में अभी भी मौजूद हैं चीनी सैनिक- वायु सेना प्रमुख

नई दिल्ली:  वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ ने पाकिस्तान के परमाणु ठिकानों पर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि वायुसेना हर वक्त पाकिस्तान के परमाणु ठिकानों का पता लगाने और उन्हें नष्ट करने में सक्षम है। उन्होंने कहा कि चीन और पाकिस्तान के साथ एक साथ युद्ध की संभावना कम है। लेकिन दुश्मन की नीयत कभी भी बदल सकती है। इसलिए हमें हर परिस्थिति के लिए सतर्क रहना चाहिए।

बीएस धनोआ वायुसेना का सालाना प्रेस कांफ्रेंस में पत्रकारों के सवालों के जवाब दे रहे थे। उन्होंने कहा कि चीन के साथ डोकलाम विवाद खत्म हो गया है। लेकिन चुंबी घाटी में अभी भी भारी तादाद में चीनी सैनिक मौजूद हैं। हलांकि वो युद्धाभ्यास के लिए वहां पर मौजूद हैं। और युद्धाभ्यास के बाद उम्मीद है वो वापस लौट जाएंगे। उन्होंने कहा कि डोकलाम विवाद के वक्त चीन की पूरी वायुसेना तिब्बत में मौजूद थी। लेकिन वो कभी भी एलएसी के 20 किलोमीटर के दायरे में नहीं आए।

सर्जिकल स्ट्राइक के सवाल पर उन्होंने कहा स्पेशल फोर्सेस ने वायुसेना की मदद नहीं ली थी। क्योंकि सर्जिकल स्ट्राइक कौन करेगा इसका फैसला सरकार ने किया था। लेकिन वायुसेना किसी भी तरह की चुनौती के लिए तैयार है।

पाकिस्तान के न्यूक्लियर हथियारों पर वायुसेना प्रमुख ने कहा हलांकि इसके लिए भारत की न्यूक्लियर डॉक्ट्रिन है। लेकिन वायुसेना सीमापार किसी भी ठिकाने का पता लगाने और एयर स्ट्राइक करने में सक्षम है।

Loading...

Leave a Reply