ढाका हमले के आतंकी जाकिर नाइक से थे प्रभावित, जाकिर पर IB की नजर

ढाका में हुए आतंकी हमले में एक नई बात निकल कर सामने आई है। ढाका हमले को जिन आतंकियों ने अंजाम दिया उनमें से एक जाकिर नाइक से प्रेरित था। ढाका हमले के एक आतंकी रोहन इम्तियाज ने अपने फेसबुक पर लिखा था कि वो जाकिर नाइक से प्रभावित था। इस बात के सामने आने के बाद मुंबई में रहने वाला जाकिर नाइक ने कहा है कि ढाका हमले को अंजाम देनेवाले मुझसे प्रेरित थे इसे जानकार मुझे हैरान होना चाहिए? आगे जाकिर ने कहा कि इसका मतलब ये नहीं है कि मैं उनके तरीके का समर्थन कर रहा हूं।

जाकिर नाइक को दुनियाभर में करोड़ों लोग जानते हैं। खुद जाकिर ने कहा है कि फेसबुक पर उसके एक करोड़ों से ज्यादा फॉलोअर्स हैं।अलग- अलग भाषा में उनके पीस टीवी को देखने पाले दर्शकों की संख्या 2 करोड़ है। जिसमें उर्दू, बंगाली और चीनी शामिल हैं। नाइक ने बताया कि फेसबुक पर उसके सबसे ज्यादा फॉलोअर्स बांग्लादेश से हैं। जाकिर के मुताबिक 90 फीसदी बांग्लादेशी उसे जानते हैं।

पीस टीवी के नाम से जाकिर का एक टीवी चैनल है। जिसपर लोग उसकी तकरीर सुनते हैं। जाकिर का पहनावा भी बाकी मुस्लिम धर्म गुरुओं से अलग है। जाकिर पारंपरिक परिधान की जगह कोट पैंट और टाई लगाते हैं। जाकिर अपनी तकरीर अंगरेजी में करते हैं। उनके जानने वालों की बड़ी तादाद के बारे में जाकिर कहते हैं कि वो इस्लाम के बारे में सच्ची बात बताते हैं इसलिए लोग उनसे जुड़ते हैं। उनसे जुड़ने वाले बाद लोग दूसरे को भी सुनते हैं जो कि इस्लाम के नाम पर लोगों को भटकाते हैं।

कुछ साल पहले जाकिर से एक हिंदी न्यूज चैनल के कार्यक्रम में ओसामा बिन लादेन के बारे में सवाल किया गया था। जिसके जवाब में जाकिर का कहना था कि वो आतंकी था या नहीं इसपर कुछ नहीं बोल सकता। क्योंकि अभी उसकी जांच नहीं की है मैने।

जाकिर फिलहाल देश से बाहर है। उनका कहना है कि केवल मीडिया की वजह से इस तरह की बातें हो रही है। जाकिर 11 जुलाई को भारत लौटने वाले हैं। जिसके बाद 12 जुलाई को जाकिर प्रेस के सामने अपनी बात रखेंगे।

वहीं जाकिर पर केद्रीय गृह मंत्रालय ने भी जांच एजेंसियों को कुछ निर्देश दिये हैं। गृह राज्य मंत्री किरेन रिजीजू ने कहा कि NIA जाकिर के भाषण की जांच कर रही है। IB की भी जाकिर पर नजर है। फिलहाल जाकिर पर पाबंदी को लेकर किसी तरह का फैसला नहीं किया गया है। जांच रिपोर्ट आने के बाद ही उसपर पाबंदी को लेकर कोई फैसला किया जाएगा। मुंबई पुलिस भी जाकिर के कार्यालय IRF (इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन) भी पहुंची। पुलिस ने मंजूर शेख से भी बात की। पुलिस ने IRF के प्रवक्ता मंजूर शेख से सवाल किये। कई मुस्लिम धर्मगुरु भी जाकिर नाइक के खिलाफ हैं। और IRF पर पाबंदी की मांग भी कर चुके हैं।
-Zakir Naik

Loading...