देवघर में दिन दहाड़े यूनाइटेड बैंक से 60 लाख की लूट, 2 घंटे तक हुई लूटपाट

देवघर/झारखंड:  झारखंड के देवघर में अपराधियों ने बैंक लूट की बड़ी बारदात को अंजाम दिया है। अपराधियों ने तकरीबन दो घंटे तक बैंक में लूटपाट की। लुटेरों ने बैंक से तकरीबन 60 लाख रुपये की लूटपाट की। इस बीच किसी को भी इस बात की जरा भी भनक नहीं लगी। लुटेरे बैंक में सुबह तकरीबन 11 बजे आजाद चौक के पास यूनाइटेड बैंक की शाखा में घुसे थे और दोपहर 1 बजे तक लूटपाट करते रहे। जिस तरह से वारदात को अंजाम दिया गया है उससे ये अंदाजा लगाया जा रहा है कि वारदात को अंजाम देने से पहले काफी गहन रेकी की गई थी। लुटेरों के पास इस बात की पूरी जानकारी थी कि वो किस तरह से बैंक को अपने कब्जे में ले सकते हैं।

प्रत्यक्षदर्शियों के मिताबिक जिस वक्त लुटेरे बैंक में दाखिल हुए उस वक्त बैंक के भीतर कई ग्राहक भी थे। लुटेरों की संख्या 8 बताई जा रही है। लुटेरों में पहले बैंक के मैनेजर को अपने कब्जे में किया। उसके बाद वहां मौजूद सभी ग्राहकों के मोबाइल फोन को अपने कब्जे में ले लिया। इसके बाद सभी बैंक के भीतर मौजूद सभी ग्राहकों को एक कोने में बैठा दिया।

DEOGHAR BANK LOOT

अपराधियों ने लूट की शुरुआत बैंक के कैश काउंटर पर रखे 5 लाख रुपये से की। इसके बाद लुटेरों ने बैंक मैनेजर से हथियार के बल पर सेट खुलवाया गया। और वहां रखे 50 लाख रुपये लूट लिये। वहां मौजूद प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक लुटेरे नोटों को बोरी में भरकर ले गए।

लुटेरे इस बात से वाकिफ थे कि बैंक में लगे सीसीटीवी में वो कैद हो चुके हैं। इसलिए बैंक से बाहर निकलने से पहले उन्होंन बैंक में लगे सभी कंप्यूटर को तोड़ डाला और सीसीटीवी कैमरे और उसके हार्ड डिस्क को भी तोड़ दिया। ताकि उनकी पहचान नहीं हो सके।

दोपहर 1 बजे जब लुटेरे बैंक से निकले उसके बाद पुलिस की इसकी जानकारी दी गई। जिसके बाद आला अधिकारी बैंक पहुंचे और जांच पड़ताल शुरु की। लेकिन तबतक लुटेरे फरार हो चुके थे। जिस तरह से बेखौफ होकर लुटेरों ने लूट की इस वारदात को अंजाम दिया उससे देवघर की सुरक्षा व्यवस्था पर भी सवाल खड़ा होता है।

Loading...