दिल्ली में बढ़े प्रदूषण पर दिल्ली सरकार का बड़ा फैसला, बुधवार को स्कूल बंद

दिल्ली में बढ़े प्रदूषण पर दिल्ली सरकार का बड़ा फैसला, बुधवार को स्कूल बंद

नई दिल्ली:  दिल्ली में प्रदूषण के खतरनाक स्तर पर पहुंचने के बाद सरकार हरकत में आई है। मंगलवार को शाम के साढ़े पांच बजे दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने अधिकारियों की बैठक बुलाई थी। जिसमें कई बड़े फैसले लिये गए। दिल्ली के सभी प्राइमरी स्कूल को बुधवार को बंद कर दिया गया है। दिल्ली में 5वीं तक के सभी स्कूल बंद रहेंगे।

दिल्ली एनसीआर में जेनरेटर चलाने पर रोक अभी जारी रहेगी। ईट भट्टों पर भी रोक लगा दी गई है। एमसीडी को पार्किंग चार्ज 3-4 गुना बढ़ाने के निर्देश दिये गए हैं।  दिल्ली मेट्रो को मेट्रो सेवा के फेरे बढ़ाने के लिए कहा गया है साथ ही ट्रेनों में अतिरिक्त कोच भी लगाने की बात कह गई है। दिल्ली मेट्रो का किराया 10 दिनों के लिए कम करने के निर्दश भी दिये गए हैं। दिल्ली में ट्रकों के प्रवेश पर रोक लगा दी गई है।

मनीष सिसोदिया ने लोगों से अपील की है कि वे कहीं भी पत्ते, लकड़ी या दूसरी चीजें ना जलाएं। स्कूलों को भी एडवाइजरी जारी की गई है। जिसमें कहा गया है कि बच्चों की मॉर्निंग असेंबली और बाहर की गतिविधियां बंद कर दी जाएं। डिप्टी सीएम की बैठक में शिक्षा, स्वास्थ्य और पर्यावरण विभाग के सदस्य शामिल हुए।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में बढ़े प्रदूषण के स्तर के लिए पराली को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने ट्वीट किया दिल्ली गैस चैंबर बन चुकी है। हर साल दिल्ली का यही हाल होता है। दिल्ली के नजदीकी राज्यों में जलाई जानेवाली पराली का हमें मिलकर कोई हल निकालना होगा।

इस मामले पर एनजीटी ने भी दिल्ली, हरियाणा और पंजाब सरकार को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। एनजीटी ने पूछा है कि प्रदूषण नियंत्रित करने के लिए जो उपाय सुझाए गए थे उसपर अमल क्यों नहीं किया गया।

प्रदूषण के स्तर को देखते हुए दिल्ली में एयरपोर्ट, मेट्रो स्टेशन, रेलवे स्टेशन पर तैनात सुरक्षा कर्मियों के बीच मास्क बांटे गए हैं। मेट्रो की सुरक्षा में लगे सीआईएसएफ के जवानों के बीच 8000 मास्क बांटे गए हैं। जबकि एयरपोर्ट की सुरक्षा में तैनात जवानों के बीच 5000 मास्क बांटे गए हैं। बाकी जगहों पर सुरक्षा में तैनात जवानों के बीच भी 1000 मास्क बांटे गए हैं।

Loading...

Leave a Reply