दिल्ली में अफसरों की हड़ताल ‘बदसलूकी करनेवाले AAP विधायक हों बर्खास्त’

नई दिल्ली:  आम आदमी पार्टी के आरोपी विधायकों के खिलाफ जबतक कार्रवाई नहीं होती है तबतक दिल्ली के अधिकारी दफ्तर में कोई काम नहीं करेंगे। दिल्ली एडमिनिट्रेटिव सबॉर्डिनेट सर्विस यानि DASS के प्रेसिडेंट डीएन सिंह ने ये बात कही। दिल्ली में आम आदमी पार्टी के दो विधायकों पर मुख्य सचिव से बदसलूकी का आरोप है। ये बदसलूकी सीएम अरविंद केजरीवाल के सामने होने के आरोप लगाए जा रहे हैं।

इस मामले को लेकर DASS के सदस्य ने दिल्ली के उप राज्यपाल से मुलाकात की। जिसके बाद फैसला लिया गया कि तत्काल प्रभाव से वो दफ्तर में काम बंद कर रहे हैं। DASS के अध्यक्ष ने कहा कि वो दफ्तर जाएंगे लेकिन काम नहीं करेंग। उन्होंने मांग की है कि बदसलूकी करने वाले विधायकों की सदस्यता रद्द हो। साथ ही उन्होंने कहा कि मुख्य सचिव अंशु गुप्ता से बदसलूकी की शिकायत राष्ट्रपति से भी करेंगे।

अफसरों की तरफ से कहा गया है कि डर के माहौल में वो काम नहीं कर सकते। दिल्ली में संवैधानिक संकट के हालत हैं। केंद्र सरकार हस्तक्षेप करें। वहीं केजरीवाल के मीडिया सलाहकार ने कहा है कि मुख्य सचिव ने विधायकों के लिए जाति सूचक शब्दों का इस्तेमाल किया। आशीष खेतान और मंत्री इमरान हुसैन के साथ मारपीट की गई। दिल्ल सचिवालय में अफसरों ने मारपीट की।

https://twitter.com/AamAadmiParty/status/965855216766767104

सीएम केजरीवाल ने सोमवार को अपने घर पर विज्ञापन के मुद्दे पर बैठक बुलाई थी। उसी बैठक के दौरान बदसलूकी का आरोप लगा है। हलांकि दिल्ली सरकार की तरफ से इन आरोपों को निराधार बताया गया है।

इसे भी पढ़ें

केजरीवाल के सामने AAP के दो विधायकों ने मुझसे बदसलूकी की- मुख्य सचिव

Loading...