daughter pull plough

बैल खरीदने के पैसे नहीं है तो बैल की जगह बेटियों को हल में बांधकर की खेती

बैल खरीदने के पैसे नहीं है तो बैल की जगह बेटियों को हल में बांधकर की खेती

नई दिल्ली:  इन तस्वीरों को देखकर ये कहना असंभव है कि मध्य प्रदेश में सबकुछ ठीक है। खासकर किसानों के संदर्भ में। मध्य प्रदेश में सिहोर के बसंतपुर पंगरी गांव में किसान की बेटी बैल की जगह काम कर रही हैं। इनका नाम राधिका और कुंती है। राधिका की उम्र 14 है जबकि कुंती की उम्र 11 साल है। इनके पिता का नाम सरदार कहला है। किसान पिता हल पकड़ता है जबकि उसकी दोनों बेटी हल को आगे से खींचती हैं। ठीक उसी तरह जैसे बैल को बांधा जाता है।

किसान का कहना है कि उसके पास इतने पैसे नहीं है कि वो बैल खरीद सके और उनकी देखभाल कर सके। प्रशासन और सरकार की तरफ से कोई मदद मिल नहीं रही है। इसलिए बेटियों को खेती के काम में लगा दिया। पैसों की तंगी की वजह से ही राधिका और कुंती की पढ़ाई बीच में ही रोक देनी पड़ी।

daughter pull plough
ANI

HT के मुताबिक इस मामले में जब प्रशासन से संपर्क किया गया तो डिस्ट्रिक पब्लिक रिलेशन ऑफिसर यानि DPRO आशीष शर्मा ने कहा इस मामले के संज्ञान में आने के बाद किसान परिवार को जरुरी मदद के लिए कदम उठाए जा रहे हैं। उन्होंने कहा सरकारी स्कीम के तहत इस तरह के किसानों की जितनी भी मदद संभव होगी की जाएगी। उन्होंने कहा कि किसान से भी ये कहा गया है कि वो अपने बच्चों को इस तरह के कामों में न लगाएं। सरकार की तरफ से उनकी पूरी मदद की जाएगी।

Loading...

Leave a Reply