टाटा चेयरमैन पद से साइरस मिस्त्री की छुट्टी, रतन टाटा ने संभाली जिम्मेदारी

नई दिल्ली: टाटा सन्स ने सइरस मिस्त्री को चेयरमैन के पद से हटा दिया है। उनकी जगह रतन टाटा को चार महीनों के लिए अंतरिम चेयरमैन नियुक्त किया गया है। नए चेयरमैन के चयन के लिए एक नई समिति बना दी गई है। मुंबई में हुई बोर्ड मीटिंग में ये फैसला लिया गया।

नए चेयरमैन के चयन के लिए जो समिति बनाई गई है उसमें रतन एन टाटा, वेनु श्रीनिवासन, अमित चंद्रा, रोनेन सेन और लॉर्ड कुमार भट्टाचार्य शामिल हैं। इस समिति को चार महीनों में नया अध्यक्ष चुनना है। साइरस मिस्त्री को 28 दिसंबर 2012 को टाटा का चेयरमैन बनाया गया था। राइरस ने छठे चेयरमैन के तौर पर टाटा का कार्यभार संभाला था।

साइरस मिस्त्री को हटाने के पीछे टाटा ग्रुप के प्रवक्ता ने कहा कि बोर्ड ने अपनी सामूहिक बुद्धि और टाटा ट्रस्ट के शेयरहोल्डरों की सलाह पर यह फैसला लिया है। टाटा सन्स और टाटा ग्रुप की बेहतरी के लिए ये बदलाव जरुरी हो गया था।

मिस्त्री को रतन टाटा का करीबी माना जाता था। साइरस के साथ करीबी तौर पर काम कर चुके ग्रुप के शीर्ष अधिकारियों ने तब बताया था कि रतन टाटा के साथ उनकी खूब छनती है। साइरस का दिमाग और मिजाज रतन टाटा जैसा ही है। साइरस की ताजपोशी से पहले रतन टाटा ने ग्रुप के सभी कंपनियों के शीर्ष पांच-छह अधिकारियों को ईमेल भेजी थी। जिसमें उन्होंने लिखा था साइरस पी मिस्त्री दिसंबर 2012 के बाद टाटा ग्रुप में उनकी जगह लेंगे। ईमेल में 74 साल के रतन टाटा ने उम्मीद जताई थी कि मिस्त्री को उनसे वही समर्थन मिलेगा जो उन्हें मिला है।

Loading...

Leave a Reply