भारत समेत दुनियाभर में ‘पेट्या’ वायरस का हमला, मुंबई में देश का सबसे बड़ा पोर्ट ठप

नई दिल्ली:  फिरौती मांगनेवाला वानाक्राइ रैनसमवेयर एक बार फिर सक्रिय हो गया है। इसबार रैनसमवेयर पेट्या वायरस के नाम से हमला कर रहा है। पेट्या वायरस की वजह से देश सबसे बड़े पोर्ट ट्रस्ट मुंबई के जवाहरलाल नेहरू पोर्ट ट्रस्ट पर कामकाज पूरी तरह से ठप हो गया है। पोर्ट पर ना तो कंटेनर की लोडिंग हो रही है और ना ही कंटेनर उतारे जा रहे हैं। क्योंकि रैनसमवेयर ने जेएनपीटी के कंप्यूटर सिस्टम को बेकार कर दिया है।

भारत के साथ साथ मंगलवार को ही फिरौती मांगनेवाले रैनसमवेयर ने दुनिया के कई देशों पर एक साथ हमला किया है। जिसका सबसे ज्यादा असर यूक्रेन पर हुआ है। जहां सरकारी मंत्रालय, बजली कंपनी और बैंक के कंप्यूटर सिस्टम में खराबी आई है। यूक्रेन का सेंट्रल बैंक, सरकारी बजली वितरक कंपनी, विमान निर्माता कंपनी एंतोनोव और डाक सेवाओं पर बुरा असर पड़ा है।

रूस की तेल उत्पादक कंपनी रोजनेफ्ट ने बयान जारी कर कहा है उसके आईटी सिस्टम इस साइबर हमले के शिकार हुए हैं। कंपनी की तरफ से कहा गया है कि हालात का आकलन किया जा रहा है और जरुरी उपाय किये जा रहे हैं। मॉस्को की साइबर सिक्योरिटी फर्म आईबी के मुताबिक उसे रूस और यूक्रेन में रैनसमवेयर से प्रभावित लोगों के बारे में जानकारी मिली है। मान जा रहा है यूक्रेन से रैनसमवेयर जैसे पेट्या वायरस का हमला किया है।

कैसे हमला करता है पेट्या वायरस?

रैनसमवेयर का हमला जिस कंप्यूटर सिस्टम पर होता है वो सिस्टम काम करना बंद कर देता है। ये वायरस कंप्यूटर के ऑपरेटिंग सिस्टम पर हमला करता है। जिसके बाद कंप्यूटर में सेव किये गए सारे डाटा लॉक कर देता है। जिसे दोबारा से खोलने के लिए फिरौती की मांग की जाती है। फिरौती नहीं देने पर कंप्यूटर सिस्टम में रखा गया सारा डेटा बेकार हो जाता है।

फिरौती वाले वायरस से केसै करें बचाव?

रैनसमवेयर से बचाव के लिए कंप्यूटर के ऑपरेटिंग सिस्टम को अपग्रेड करते रहें। सिस्टम में अच्छा एंटी वायरस डालें। किसी भी अनजानी फाइल को ओपन न करें। अगर किसी ईमेल पर शक हो रहा है तो पहले से भेजने वाले से उसके बारे में जानकारी ले लें। और पूरी तरह से आश्वस्त होने के बाद ही ई मेल ओपन करें। इंसीक्योर वेबसाइट को ओपन करने से बचें। अनजाने मेल आईडी से आए वीडियो को ओपन करने से बचें।

Loading...

Leave a Reply