गौवंश पर मुस्लिम संगठनों ने की है बड़ी अपील

नई दिल्ली:  कुर्बानी के मौके पर गौवंश की रक्षा के लिए मुस्लिम संगठन ऑल इंडिया मिस्लिम मजलिसे मुशावरत यानि AIMMM ने एक सराहनीय कदम उठाया है। AIMMM की तरफ से एक प्रस्ताव पास किया गया है। जिसमें कहा गया है कि जिन राज्यों में गाय के काटने पर प्रतिबंध है वहां के मुसलमान कुर्बानी के मौके पर गाय की कुर्बानी नहीं करें। उन राज्यों में बकरे की कुर्बानी दी जाए।

AIMMM के जनरल सेक्रेटरी ने कहा पुणे में मुशावरत की बैठक में ये फैसला लिया गया। बैठक में एक प्रस्ताव पास किया गया जिसमें कहा गया कि जिन राज्यों में गौमांस पर प्रतिबंध है वहां बकरीद के मौके पर गौवंश की कुर्बानी ना दें। सभी मुसलमानों से राज्य के कानून का पालन करने को कहा गया है।

भारत के 29 में से 11 राज्यों में गौवंश की हत्या पर पूर्ण प्रतिबंध है। जिनमें हिमाचल प्रदेश, जम्मू कश्मीर, पंजाब, हरियाणा, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, गुजरात, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र और छत्तसगढ़ शामिल हैं। दो केंद्र शासित राज्यों दिल्ली और चंडीगढ़ में भी गौ हत्या पर प्रतिबंध है।

देश के 8 राज्य ऐसे हैं जहां गौ हत्या पर आंशिक प्रतिबंध है। बिहार, झारखंड, ओडीशा, तेलंगाना, कर्नाटक, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश और गोवा शामिल हैं। इसके अलावे चार केंद्र शासित राज्यों दमन और दीव, दादर और नागर हवेली, पांडिचेरी, अंडमान और निकोबार द्वीप में ये आंशिक प्रतिबंध लागू है।

जबकि 10 राज्यों में गौवंश की हत्या पर प्रतिबंध नहीं है। इनमें शामिल राज्य हैं केरल, पश्चिम बंगाल, अरुणाचल प्रदेश, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, नागालैंड, त्रिपुरा और सिक्किम शामिल हैं। केंद्र शासित राज्य लक्षद्वीप में भी गौवंश की हत्या पर कोई प्रतिबंध नहीं है।

Loading...