sp-tyagi-in-court

अगस्तावेस्टलैंड घोटाले में त्यागी के इस दावे से ‘नोटबंदी’ पर कड़क कांग्रेस पड़ेगी नरम?

अगस्तावेस्टलैंड घोटाले में त्यागी के इस दावे से ‘नोटबंदी’ पर कड़क कांग्रेस पड़ेगी नरम?




नई दिल्ली: अगस्तावेस्टलैंड घोटाले के आरोप में गिरफ्तार पूर्व वायुसेना प्रमुख एसपी त्यागी ने बड़ा खुलासा और दावा किया है। शनिवार को अदालत में त्यागी के वकील की तरफ से दावा किया गया कि अगस्तावेस्टलैंड हेलिकॉप्टर खरीदने में शर्तों में जो बदलाव किये गए थे उसमें प्रधानमंत्री कार्यालय भी शामिल था। गौरतलब है कि 2005 में हुए जिस घोटाले में त्यागी गिरफ्तार हुए हैं उस वक्त प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह थे।

अगस्तावेस्टलैंड घोटाले में पूर्व वायुसेना प्रमुख के इस दावे के बाद नोटबंदी पर कड़क कांग्रेस के तेवर में नरमी आने की संभावना जताई जा रही है। क्योंकि त्यागी की तरफ जो दावा किया गया है उसका सीधा संबंध कांग्रेस से है। क्योंकि 2005 में केंद्र में यूपीए-1 की सरकार थी।। अगस्तावेस्टलैंड घोटाले में पूर्व वायुसेना प्रमुख के साथ साथ यूपीए सरकार पर भी आरोप लगाए जाते रहे हैं। लेकिन अदालत में त्यागी के इस दावे के बाद अब बीजेपी दोबारा से कांग्रेस पर हमलावर हो सकती है।

अगस्तावेस्टलैंड घोटाले में गिरफ्तार पूर्व वायुसेना प्रमुख एसपी त्यागी को शनिवार को अदालत में पेश किया गया था। जहां से सीबीआई ने 10 दिनों की रिमांड मांगी थी। लेकिन अदालत की तरफ से 4 दिन की रिमांड दी गई। त्यागी के वकील ने अदालत में कहा यह सामूहिक फैसला था, न कि त्यागी का व्यक्तिगत फैसला। इस फैसले को त्यागी के वायुसेना प्रमुख बनने से काफी पहले ही लिया जा चुका था। त्यागी के वकील एन हरिहरण ने कहा सही मायने में त्यागी हेलिकॉप्टर खरीद की प्रक्रिया का हिस्सा रहे ही नहीं थे।

अगस्तावेस्टलैंड हेलिकॉप्टर सौदा 3600 करोड़ रुपये का था। इसके तहत 12 हेलिकॉप्टरों की खरीद की जानी थी। कहा जा रहा है कि इस डील को फाइनल करने के लिए 360 करोड़ की रिश्वत ली गई थी। सीबीआई ने एफआईआर में त्यागी पर पद का दुरुपयोग और आपराधिक षडयंत्र रचने का आरोप लगाया है।

Loading...

Leave a Reply