akhilesh-yadav-and-priyanka-gandhi

फोन की एक घंटी बजी और UP में समाजवादी पार्टी-कांग्रेस गठबंधन पर मुहर लग गई!

फोन की एक घंटी बजी और UP में समाजवादी पार्टी-कांग्रेस गठबंधन पर मुहर लग गई!




लखनऊ: संकट में घिरे समाजवादी पार्टी और कांग्रेस का गठबंधन टूटते-टूटते दोबार जीवित हो गई। एक वक्त में लग रहा था कि अब कोई चमत्कार ही इन दोनों दलों के बीच गठबंधन करा सकता है। क्योंकि गठबंधन की उम्मीदें खत्म होने के बाद कांग्रेसी नेता यूपी के पहले और दूसरे चरण के मतदान के लिए उम्मीदवार तक फाइनल कर चुके थे।

सूत्रों के मुताबिक इसके बाद अखिलेश यादव के फोन पर एक कॉल आया। फोन दिल्ली से किया गया था। और फोन करनेवाले का नाम प्रियंका गांधी वाड्रा था। जो कांग्रेस की सदस्य तो नहीं हैं लेकिन कांग्रेसी परिवार में ही उनकी परवरिश हुई है। प्रियंका गांधी वाड्रा कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की बेटी हैं और राहुल गांधी की बहन हैं।

जब हर तरफ से यूपी में गठबंधन की उम्मीद नाउम्मीदी में बदल गई तब प्रियंका ने अपनी भूमिका निभाई। उन्होंने गठबंधन को लेकर अखिलेश से बात की। एक वक्त में जब अखिलेश यादव कांग्रेस को 99 से ज्यादा सीट देने के मूड में नहीं दिखाई दे रहे थे प्रियंका से बात करने बाद उन्होंने भी अपने रुख में थोड़ी नरमी दिखाई। और कांग्रेस को 105 सीट जबकि खुद के लिए 298 सीट रखी।

हाशिये पर पहुंच चुकी गठबंधन की उम्मीद को एक संजीवनी मिली। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भी अपनी सक्रियता दिखाई और गठबंधन पर बातचीत शुरु हुई। इसबार बात निर्णायक होनी थी। इसकी वजह ये थी कि अबतक गठबंधन के लिए कांग्रेस की तरफ से यूपी के नेता सक्रिय थे। लेकिन इसबार बातचीत दिल्ली और लखनऊ के बीच हो रही थी।

दो राजनीतिक घरानों के बीच हुई इस सीधी बातचीत का नतीजा ये हुआ कि गठबंधन टूटते-टूटते बच गया, सीटों को लेकर अखिलेश ने अपने रुख में नरमी दिखाई और कांग्रेस को 100 से ज्यादा सीटें मिल गईं। शुरुआत में पेंच भी सीटों के बंटवारे को लेकर ही फंसा था। कांग्रेस 115 सीटों की मांग पर अड़ी थी। जबकि समाजवादी पार्टी की तरफ से 99 सीट का ऑफर दिया गया था। लेकिन इस ऑफर को कांग्रेस नकार चुकी थी। और यहां से ये कहा जाने लगा था कि अब समाजवादी पार्टी और कांग्रेस के बीच गठबंधन नहीं हो सकता।

यूपी के कांग्रेस प्रभारी गुलाम नबी आजाद ने भी कहा कि समाजवादी पार्टी और कांग्रेस के बीच हुए गठबंधन में प्रियंका गांधी ने काफी बड़ी भूमिका निभाई। ये बात पहले भी सामने आ चुकी थी कि अखिलेश यादव और प्रियंका गांधी के बीच गठबंधन को लेकर बातचीत हो रही है। हाल ही में अखिलेश की पत्नी डिंपल यादव और प्रियंका गांधी का एक पोस्टर भी सामने आया था। जिसमें दोनों एकसाथ दिख रही थीं।

Loading...

Leave a Reply