कांग्रेस सिमट गई, कमल खिल गया, ममता बनर्जी और जयललिता का जनाधार बना रहा

कांग्रेस सिमट गई, कमल खिल गया, ममता बनर्जी और जयललिता का जनाधार बना रहा

पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव के नतीजे आ गए। इस नतीजे से एक बात साफ है कि इसने बीजेपी को मुस्कुराने का मौका दे दिया। बीजेपी को ये मौका काफी दिनों बाद मिला। या यूं कह सकते हैं कि दिल्ली और बिहार की पराजय के बाद जो एक सूखा आया था बीजेपी के खेमे में उसमें अब हरियाली दिखाई दे रही है। इस चुनाव में बिजेपी असम जीतने में कामयाब रही, केरल में अपनी मौजूदगी दर्ज करा दी, पश्चिम बंगाल में भी ये संदेश दे दिया की वहां बीजेपी नाम की पार्टी है। पार्टी के लिए असम जीतना कितना जरुरी था इसका अंदाजा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के एक के बाद एक किये गए ट्वीट से लगाया जा सकता है। जिसमें उन्होंने असम, केरल और पश्चिम बंगाल की जनता का शुक्रिया अदा किया है। और पार्टी की इस जीत को उनकी जीत बताई है।

लेकिन इन चुनाव नतीजों में अगर किसी पार्टी को सबसे ज्यादा मायूसी हाथ लगी तो वो है कांग्रेस। जिसके उपाध्यक्ष राहुल गांधी को ये कहना पड़ा की जनता का भरोसा जीतने तक संघर्ष करते रहेंगे। ये ईशारा करता है कि कांग्रेस किस कदर इस हार से मायूस हुई है। कांग्रेस के हाथ से एक ही झटके में दो राज्य निकल गए। असम और केरल में कांग्रेस ये उम्मीद लगाए बैठी थी की सत्ता में दूसरी पारी की शुरुआत करेगी लेकिन हुआ उसका उलटा। असम बीजेपी के खाते में चला गया और केरल वाम दलों के पास।

पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी और भी ताकतवर बन कर उभरी हैं। लगातार दूसरी जीत के बाद अब उन्हें एकबार फिर केंद्र की राजनीति से जोड़कर देखा जाने लगा है। बीजेपी के खिलाफ तैयार हो रहे गठबंधन में उनके शामिल होने को लेकर सवाल पूछने का सिलसिला शुरु हो चुका है। लेकिन बीजेपी के खिलाफ तैयार हो रहे उस गठबंधन में ममता को सबसे ज्यादा परहेज वामदलों से होगा। कांग्रेस को लेकर ममता ने अपना पक्ष अभी से स्पष्ट कर दिया है कि अगर कांग्रेस वामदलों के साथ रहेगी तो टीएमसी काग्रेस से भी दूरी बना लेगी। हलांकी ममता ने ये संकेत जरुर दिये हैं कि वो जेडीयू और आरजेडी के साथ बीजेपी के खिलाफ गठबंधन में शामिल होंगी।

तमिलनाडु में जयललिता की सत्ता में दमदार वापसी हुई है। अपनी जीत के बाद उन्होंने कहा की जनता ने फैमिली पॉलिटिक्स को नकारा। उन्होंने जीत के लिए जनता का शुक्रिया किया। अपनी इस जीत के बाद जयललिता ने कहा की तमिलनाडु को नंबर एक राज्य बनाया जाएगा। डीएमके पर निशाना साधते हुन जयललिता ने कहा की झूठे प्रचार की पोल खुल गई।

Loading...

Leave a Reply