तीन तलाक पर मौन रहनेवाले हैं अपराधी, एक देश एक कानून हो- योगी अदित्यनाथ

लखनऊ: यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने तीन तलाक पर बड़ा बयान दिया है। योगी आदित्यनाथ ने कहा तीन तलाक पर कुछ लोग मौन हैं। इस मुद्दे पर जो मौन हैं वो भी अपराधी जैसे हैं। तीन तलाक की वजह से मुस्लिम महिलाएं परेशान हैं। उन्होंने कहा कि जब देश एक है तो शादी ब्याह के कानून में समानता क्यों नहीं होनी चाहिए।

पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर के किताब के विमोचन पर सीएम ने देश में समान नागरिक संहिता की बकालत करते हुए कहा जब देश एक है तो कॉमन सिविल कोड क्यों नहीं हो? सीएम ने तीन तलाक पर खामोश रहनेवाले लोगों पर भी सवाल उठाए। उन्होंने कहा देश की एक बड़ी समस्या पर कुछ लोग मौन हैं। सीएम योगी ने तीन तलाक पर मौन रहनेवाले लोगो को द्रौपदी के चीर हरण की याद दिलाई।

दरअसल सीएम ने यहां द्रौपदी के चीर हरण का जिक्र इसलिए किया क्योंकि जिस भरी सभा में द्रौपदी का चीर हरण किया गया था वहां सभी मौजूद थे। लेकिन हर कोई बेबसी के साथ द्रौपदी का चीर हरण देख रहा था। किसी ने भी उसके खिलाफ आवाज नहीं उठाई थी। अगर उस वक्त किसी ने इसका विरोध किया होता तो शायद चीर हरण को टाला जा सकता था। उस सभा में मौन रहनेवाले द्रौपदी के अपराधी थे।

इसलिए सीएम योगी ने कहा तीन तलाक पर मौन रहनेवाले भी अपराधी जैसे हैं। सीएम योगी ने तीन तलाक को बड़ी समस्या बताते हुए इसे महिलाओं के प्रति अन्याय बताया। सीएम ने कहा कि चंद्रशेखर भी समान नागरिक संहिता के पक्ष में थे।

सीएम योगी से पहले रविवार को पीएम मोदी ने भी उड़ीसा के भुवनेश्वर में बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के बैठक में तीन तलाक पर कहा था। पीएम ने कहा था तीन तलाक से मुस्लिम महिलाएं परेशानी में हैं। इससे अलग मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने तीन तलाक खत्म करने से इनकार कर दिया है। बोर्ड ने कहा है तीन तलाक पर किसी बाहरी हस्तक्षेप को स्वीकार नहीं किया जाएगा।

Loading...

Leave a Reply