योगी सरकार ने तैयार किया मदरसों का नया सिलेबस, जानें कैसी पढ़ाई होगी

लखनऊ:  यूपी की योगी सरकार ने मदरसों के लिए नया सिलेबस तैयार किया है। उम्मीद की जा रही है कि अगले सत्र से इसे लागू किया जा सकता है। इसमें मदरसों में NCERT की किताबें पढ़ाई जाएगी। इसे लेकर उत्तर प्रदेश मदरसा बोर्ड NCERT और सीबीएसई से बात कर मदरसे में पढ़ाने लायक किताबों पर विचार कर रहा है। इसे लागू करने से पहले सरकार दूसरे राज्यों में मदरसों में चलने वाली किताबों का भी अध्ययन कर रही है। नए सिलेबस के मुताबिक

कक्षा 1 से 5 तक दीनियात के अलावा अंग्रेजी, हिंदी, उर्दू, गणित और सामाजिक विज्ञान

कक्षा 6 से 8 तक दीनियात के अलावा अंग्रेजी, हिंदी, उर्दू, गणित और सामाजिक विज्ञान के अलावे प्रारंभिक अरबी और फारसी पढ़ाई जाएगी

कक्षा 9वीं से 10वीं में सभी उपरोक्त विषय के अलावे गृह विज्ञान का विषय होगा।

11वीं और 12वीं में अंग्रेजी, उर्दू और दीनियात अनिवार्य विषय होंगे। जबकि मासियात के अलावा साईंस या आर्ट्स वैकल्पिक विषय होंगे।

साइंस में फिजिक्स, कैमिस्ट्री और गणित आवश्यक विषय होंगे। लेकिन आर्ट्स चुनने वालों के लिए भूगोल, इतिहास और राजनीतिक शास्त्र अनिवार्य विषय होंगे।

सरकार के इस फैसले पर शिया मुस्लिम धर्म गुरू मौलाना सैफ अब्बास ने विरोध जताया है। उनका कहना है कि NCERT की किताबें दिल्ली बोर्ड और यूपी में पूरी नहीं हो पा रही हैं। ऐसे में इसे मदरसों पर भी थोपना चाह रहे हैं। सरकार मदरसों को ही क्यों निशाना बना रही है।

सुन्नी धर्म गुरू रशीद फिरंगी महली ने भी इसका विरोध करते हुए कहा कि मदरसे अभी इसके लिए तैयार नहीं हैं।

Loading...