विपक्ष को नीतीश का जवाब ‘बिहार की बेटी को हराने के लिए उम्मीदवार क्यों बनाया?’

पटना:  राष्ट्रपति के चुनाव में एनडीए के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद के समर्थन का एलान के बाद से बिहार के सीएम नीतीश कुमार विपक्ष के निशाने पर हैं। शुक्रवार शाम को आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव के घर पर इफ्तार पार्टी में शामिल होने पहुंचे नीतीश कुमार ने विपक्ष के सवालों का करारा जवाब दिया है। नीतीश ने कहा कि बिहार की बेटी को हराने के लिए इन्होंने उम्मीदवार बनाया है। वो बिहार की बेटी हैं उन्हें जिताने के लिए उम्मीदवार बनाना चाहिए। लेकिन ये लोग जानबूझ कर बिहार की बेटी को हराने के लिए उम्मीदवार बनाए हैं।

नीतीश ने कहा बिहार की बेटी मीरा कुमार के प्रति मुझे बहुत सम्मान है। बिहार की बेटी होने पर मुझे गर्व की अनुभूति होती है। मंत्री और स्पीकर रहते हुए उन्होंने अच्छा काम किया है। नीतीश ने कहा 2019 की रणनीति की तैयारी करनी चाहिए। उन्होंने सवाल पूछते हुए कहा बिहार की बेटी का चयन हारने के लिए किया गया। दो बार अवसर मिले तब तो बिहार की बेटी याद नहीं आई। मेरी समझ से इन्हें दोबारा पुनर्विचार करना चाहिए। 2019 में जीत की रणनीति बनाइये और 2022 में बिहार की बेटी को राष्ट्रपति बनाइये।

एनडीए के उम्मीदवार को समर्थन करने पर उन्होंने कहा इस मुद्दे पर हमने खुले तौर पर गौर किया। हर पहलू पर गौर किया। ये फैसला राष्ट्रपति चुनाव के लिए है। हम जब एनडीए में थे, जब प्रणब बाबू और अंसारी के खिलाफ बयान हुए थे तो हमने एतराज जताया था। राष्ट्रपति का पद मुकाबले का पद नहीं है। बिहार की बेटी का चयन हारने के लिए किया गया है। बिहार की बेटी को आप हारने के लायक समझ रहे हैं। जीतने के लिए चयन कीजिये। इन बातों को कोई बहुत असर नहीं होने वाला है। जब भी कोई चुनाव होता है लोग अपनी अपनी बात रखते हैं।

Loading...

Leave a Reply