2018 में 10th क्लास में जाने वाले बच्चों के लिए बेहद जरुरी है इसे पढ़ना

नई दिल्ली: 2018 से 10th Board की परीक्षा दोबारा शुर की जा सकती है। छात्रों का बोझ कम करने के मकसद से 2010 में इसे बंद कर दिया गया था। और ग्रेडिंग सिस्टम लागू किया गया था। लेकिन अब सरकार ग्रेडिंग सिस्टम खत्म कर दोबारा 10th Board का इम्तिहान शुरु करने की तैयारी में है।

मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर 25 अक्टूबर को इसका एलान कर सकते हैं। इस बड़े एलान के अलावे जावड़ेकर पांचवीं तक के छात्रों के लिए नो डिटेंशन पॉलिसी भी घोषित करेंगे। राज्य इसे अपने सुविधानुसार आठवीं कक्षा तक लागू कर सकेंगे। हालाँकि उन्हें इस बीच फेल होनेवाले छात्रों को अगली क्लास में प्रमोट करने के लिए दोबारा परीक्षीएं करानी होंगी।

2010 में Board परीक्षाओं को खत्म कर सालभर के आधार पर ग्रेडिंग की सुविधा शुरु की गई थी। इस बदलाव के पीछे तर्क ये दिया गया था कि इससे छात्रों पर मानसिक दबाव कम पड़ेगा। लेकिन अब जो बदलाव सरकार करने जा रही है वो अभिभावकों की तरफ से आनेवाली प्रतिक्रियाओं के बाद किया जा रहा है। उनका मानना है कि Board परीक्षाओं के नहीं कराए जाने से पढ़ाई का स्तर गिरा है।

जिन लोगों ने 10th Board परीक्षा की वकालत की है उनका मानना है कि इससे आगे के Board परीक्षाओं में छात्रों का प्रदर्शन अच्छा रहेगा। हाल के दिनों में 11वीं क्लास में कई छात्र फेल हुए जिसके बाद से 10th Board की मांग और जोर पकड़ी।

लेकिन इसे लागू करने से पहले केंद्र सरकार राज्यों के शिक्षा मंत्रियों और सेंट्रल एडवाइजरी Board ऑफ एजुकेशन के साथ बैठक करेगी। उसके बाद ही अंतिम फैसला लिया जाएगा। सरकार ने सीबीएसई को भी इस बदलाव के बारे में जानकार दी है।

Loading...

Leave a Reply