संभल जाओ पाकिस्तान, आ गया है अत्याधुनिक ‘चिनूक सीएच-47’

नई दिल्ली:  वायुसेना की ताकत अब और भी बढ़ने वाली है। आज चार अत्याधुनिक चिनूक सीएच-47 हेलीकॉप्टर भारतीय वायुसेना में शामिल किये जाएंगे। इसके लिए चंडीगढ़ एयरबेस पर एक इंडक्शन कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। इस समारोह में वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल बीएस धनोआ भी शामिल होंगे।

आज कुल चार चिनूक हेलीकॉप्टर वायुसेना में शामिल किये जाएंगे। 2015 में भारत ने अमेरिका के साथ कुल 15 चिनूक हेलीकॉप्टर का सौदा किया था। चिनूक के रख रखाव के लिए चंडीगढ़ हवाईअड्डा पर विशेष तौर पर तैयारी की गई है। चंडीगढ़ एक सैन्य हवाई अड्डा है जहां से व्यावसायिक उड़ानें भी संचालित होती हैं। चंडीगढ़ के अलावे असम में भी चिनूक हेलीकॉप्टर को रखा जाएगा।

क्या है चिनूक की खासियत?

चिनूक सीएच-47 हेलीकॉप्टर का वजह तकरीबन 10 टन है। यह हेलीकॉप्टरों का अपडेट मॉडल है। यह हेलीकॉप्टर भारी मात्रा में हथियार और गोला बारूद ले जा सकता है। इसके जरिये दुर्गम इलाकों में भी हथियार और गोलाबारूद को पहुंचाया जा सकता है। यह 11 हजार किलो तक के हथियार और सैनिकों को उठाने में सक्षम है। चिनूक 20 हजार किलोमीटर की ऊंचाई तक उड़ान भर सकता है। यह एक मल्टी मिशन हेलीकॉप्टर है जिसे बोइंग ने तैयार किया है। इस हेलीकॉप्टर की अधिकतम स्पीड 315 किलोमीटर प्रति घंटा की है।

(Visited 10 times, 1 visits today)
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *