china brahmaputra river dam

चीन के बिना बारूद वाले हथियार से हो सकती है भारत में बड़ी तबाही

चीन के बिना बारूद वाले हथियार से हो सकती है भारत में बड़ी तबाही

नई दिल्ली:  डोकलाम में भारत और चीन के बीच विवाद गहराता जा रहा है। चीन अपनी जिद पर अड़ा है। इसके साथ ही जैसे जैसे दिन बीत रहे हैं चीन की तरफ से लगातार ये धमकी दी जा रही है कि भारत बहुत बड़ी गलती करने जा रहा है। चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स में रोजाना इस तरह की खबरें छप रही हैं कि डोकलाम में चीन अपनी बात पर आज भी कायम है। और हालात सुधारने की सारी जिम्मेदारी भारत पर है। चीन के इस अड़ियल रुख को देखते हुए भारत की तरफ से भी तैयारियां शुरु की जा चुकी है। डोकलाम और सीमावर्ती इलाकों में सैनिकों की तैनाती बढ़ाई जा रही है।

चीन के साथ अगर युद्ध होता है तो जानकार ऐसी संभावना जता रहे हैं कि चीन हथियारों का इस्तेमाल बाद में करेगा पहले वो जल अस्त्र का इस्तेमाल करेगा। चीन से कई नदियां निकलकर भारत में दाखिल होती हैं। चीन ने इन नदियों का पानी रोकने के लिए बांध का निर्माण किया है। लेकिन युद्ध के हालात में अगर चीन इन नदियों बने बांध का पानी छोड़ देता है तो ये भारत के लिए बड़ी मुसीबत पैदा करक सकता है।

इस बात को चीन भी जानता है कि अगर वो हथियारों का इस्तेमाल करेगा तो उसका सीमा पर या सीमावर्ती गांवों तक होगा। लेकिन बांध का पानी छोड़ने पर उसका असर पंजाब तक दिखाई दे सकता है। ब्रह्मपुत्र नदी उन्हीं नदियों में से एक है। जो चीन से निकलकर भारत में प्रवेश करती है। अगर इस नदी का पानी चीन एक साथ छोड़ दे तो पूर्वोत्तर में इसका गंभीर परिणाम देखने को मिल सकता है।

सतलुज के साथ भी यही बात है। अगर इसका पानी एक साथ छोड़ा जाता है तो इसका असर हिमाचल प्रदश और पंजाब तक दिखाई देगा। ये नदी तिब्बत से निकलकर भारत में प्रवेश करती है। इसी तरह से सिंधु नदी भी है। जिसका इस्तेमाल चीन भारत के खिलाफ कर सकता है।

Loading...

Leave a Reply