UN में एक ही दिन में टेररिस्तान को पड़ा दूसरा घूंसा, अब चीन ने भी छोड़ा साथ

UN में एक ही दिन में टेररिस्तान को पड़ा दूसरा घूंसा, अब चीन ने भी छोड़ा साथ

नई दिल्ली:  UN के मंच पर पाकिस्तान के लिए शुक्रवार का दिन किसी बड़े सदमें से कम नहीं था। इस ना केवल भारत ने पाकिस्तान के कश्मीर राग पर आक्रामक जवाब उसे दिया बल्कि उसके बेहद ही खास देश चीन ने भी कश्मीर के मुद्दे पर उससे हाथ छुड़ा लिया। UN में चीन ने साफ कर दिया है कश्मीर के मुद्दे पर पाकिस्तान अपने बलबूते पर भारत से उलझे।

किसी अंतरराष्ट्रीय मंच पर पहली बार चीन ने ऐसी बात कही है। चीन के इस जवाब से पाकिस्तान की उन कोशिशों को तगड़ा झटका लगा है जिसमें वो कश्मीर के मुद्दे का अंतरराष्ट्रीयकरण करना चाहता है। शुक्रवार को ही पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी ने UN में कश्मीर का मुद्दा उठाया था। और भारत पर कश्मीर में मानवाधिकार के हनन का आरोप लगाया था। पाकिस्तान कि इस गुस्ताखी की सजा भारत ने भी उसी के अंदाज में उसे दी है।

गुरुवार को भी पाकिस्तानी प्रधानमंत्री अब्बासी ने कश्मीर कश्मीर मुद्दे को उठाते हुए संयुक्त राष्ट्र महासभा से विशेष दूत नियुक्त करने की मांग की थी। पाकिस्तान ने कश्मीर मुद्दे को संयुक्त राष्ट्र महासभा में उठाने के लिए ऑर्गेनइजेशन ऑफ इस्लामिक कॉर्पोरेशन का इस्तेमाल करने की कोशिश भी की थी।

इसके बाद अगले दिन यानि शुक्रवार को ही चीन के विदेश मंत्री लु कांग ने पाकिस्तान को वैश्विक मंच पर जमकर लताड़ लगाई है। चीन ने साफ कर दिया कि पाकिस्तान को कश्मीर मुद्दे पर किसी तरह से मदद नहीं मिलेगा। ये पहला मौका है जब चीन ने वैश्विक मंच पर पाकिस्तान को इस तरह से लताड़ लगाई है। और यह साफ कर दिया है कि चीन पाकिस्तान को किसी तरह से भी कश्मीर मुद्दे पर साथ नहीं देगा।

शुक्रवार को ही संयुक्त राष्ट्र में भारत की प्रथम सचिव ईनम गंभीर ने भी पाकिस्तान को लताड़ लगाते हुए उसे टेररिस्तान करार दिया था। और कहा था कि यह देश पूरी तरह से आतंक को पैदा कर रहा है।

Loading...

Leave a Reply