चीन से प्रतिस्पर्धा करने की नहीं प्रेरणा लेने की जरूरत-रघुराम राजन

RBI गवर्नर रघुराम राजन ने भारत की तरक्की और चीन के आज की स्थिति को लेकर एक अहम टिप्पणि की है। राजन ने कहा कि ‘हमें चीन से प्रतिस्पर्धा करने की बजाय उससे प्रेरणा लेनी चाहिए। उम्मीद है कि भारत 10-15 साल बाद उस मुकाम पर पहुंच जाएगा, जहां आज चीन खड़ा है।‘

‘राजन ने आगे कहा मैं मानता हूं कि हमें चीन को प्रेरणा के तौर पर देखना चाहिए। चीन से हम यह सबक सीख सकते हैं कि कैसे कोई देश तीन दशकों में तरक्की कर सकता है। यदि उसका इस बात पर पक्का विश्वस हो कि उसे क्या चाहिए। मैं अकसर देखता हूं कि लोग चीन को कम आंकते हैं। ये सही है कि चीन की अपनी कुछ समस्याएं हैं लेकिन बीते तीन दशक में चीन प्रति व्यक्ति आय के मामले में 7.5 हजार डॉलर के स्तर पर पहुंच गया है।‘ राजन ने आगे कहा कि ‘मैं यह कहनेवाला आखिरी व्यक्ति होऊंगा कि हमें भी उस रास्ते पर चलने की जरुरत है जिस पर वे चले हैं। लेकिन हम नहीं चल सकते क्योंकि वह पहले ही इस रास्ते पर हैं। वह वहां पहले से ही हैं और आगे का रास्ता खुला नहीं है। किसी ने पहले ही उस रास्ते को घेर रखा है। हम निश्चित तौर पर चीन से प्रेरणा ले सकते हैं। अभी हम उस स्थिति में हैं जहां चीन 1990 के आखिर या 2000 के दशक की शुरुआत में था। उम्मीद है कि 10 से 15 साल बाद हम उस स्तर पर होंगे जहां चीन आज है।‘

बेंगलुरु में एसोचेम के एक कार्यक्रम में रघुराम राजन ने ये बातें कही। राजन से चीन से मुकाबला करने की स्थिति में भारत के पहुंचने को लेकर सवाल किया गया था। जिसके जवाब में राजन ने ये बातें कही। राजन ने आगे कहा कि ‘मैं इस बारे में भविष्यवाणी नहीं करूंगा कि हम कब चीन से मुकाबले की स्थिति में आ जाएंगे। लेकिन उम्मीद है हम ऐसा कर पाएंगे।‘
-RBI Governer Raghuram Rajan

Loading...