चीन की एक और चालबाजी फर्जी नक्शा जारी कर भूटान बॉर्डर पर जताया दावा

नई दिल्ली:  चीन ने भूटान के साथ चल रहे सीमा विवाद पर नया दांव चला है। इसबार उसने एक नक्शा जारी किया है जिसमें उसने भारत-भूटान-चीन के त्रकोणीय जंक्शन पर दावा पेश किया है। चीन ने इसे अपना बाताते हुए ये भी बताया है कि भारतीय सैनिकों ने डोकाला पास पर सीमा पार की। चीन ने कहा है कि भारत ने उसकी जमीन में दखल किया है।

चीन ने जो नक्शा जारी किया है उसमें मोटे तीर के निशान के साथ ये दिखाने की कोशिश की है कि भरतीय सेना यहीं से चीन के इलाके में घुसी। चीन ने दावा किया है कि भारतीय सेना ने डोकाला पास पर सीमा पार की। डोकाला पठार को भारत और भूटान भूटानी क्षेत्र के तौर पर देखते हैं। लेकिन अब  चीन इसपर दावा कर रहा है।

चीन ने जो नक्शा जारी किया है उसमें त्रिकोणय जंक्शन को एक तीर से दिखाया गया है और दावा किया गया है कि 1890 में चीन-ब्रिटिश संधि के तहत ये इलाका चीन को मिला था। सिक्किम सेक्टर में पिछले तकरीबन 12 दिनों से तनाव है। इस तनाव के बाद चीन ने कैलाश मानसरोवर यात्र पर गए श्रद्धालुओं को भी रोक दिया था। दरअसल चीन इन हरकतों से सीमा विवाद पर भारत पर दबाव बनाना चाहता है। लेकिन शुक्रवार को रक्षा मंत्री अरुण जेटली ने भी चीन को साफ शब्दों में कहा कि 1962 और 2017 में काफी फर्क है। चीन इस बात को ध्यान में रखे।

Loading...

Leave a Reply