इंडियन टैलेंट के बिना चीन दुनिया में अव्वल नहीं बन सकता-ग्लोबल टाइम्स




नई दिल्ली: चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स ने अपने आर्टिकल में भारतीय टैलेंट की तारीफ की है। साथ ही उसने लिखा है कि इंडियन टैलेंट को नजरअंदाज करना चीन की बड़ी भूल साबित हुई है। आर्टिकल में ये भी लिखा गया है कि चीन ने अमेरिका और यूरोप के टैलेंट को ज्यादा तरजीह दी। लेकिन अब उसे भारत के हाईटेक टैलेंट को अपने यहां बुलाना चाहिए।

ग्लोबल टाइम्स में लिखा गया है कि चीन ने भारत के साइंस-टेक्नॉलजी एक्सपर्ट्स को आकर्षित करने के लिए पूरी कोशिश नहीं की। ग्लोबल टाइम्स में हाल के दिनों में भारत की तारीफ में कई लेख छप चुके हैं। हाल ही में इसरो की तरफ से 104 उपग्रह को एक साथ प्रक्षेपित करने पर भी ग्लोबल टाइम्स में लिखा गया था कि दुनिया को भारत से काफी कुछ सीखने की जरुरत है।

अखबार में आगे लिखा गया है कि पिछले कुछ सालों में चीन में तकनीक से जुड़े नौकरी में संभावना काफी बढ़ी है। चीन रिसर्च और डेवलपमेंट सेंटर के तौर पर देखा जा रहा है। लेकिन कम लेबर खर्च के चलते कुछ हाईटेक फर्म्स चीन छोड़कर भारत का रुख कर रही है। अपनी इनोवेशन एबिलिटी को बरकरार रखने के लिए चीन को भारतीय टैलेंट को आकर्षित करना ही होगा।

अमेरिका की सॉफ्टवेयर फर्म सीए टेक्नॉलजी ने चीन में अपने 300 लोगों की रिसर्च एंड डेवलपमेंट टीम को खत्म कर दिया। साथ ही अमेरिका ने भारत में पिछले कुछ सालों में 2000 साइंटिफिक और टेक्निकल प्रोफेशनल तैनात किए हैं। आज के दिनों में भारत यंग टैलेंट पूल तेजी से आकर्षित कर रहा है।

Loading...