चीन नहीं उठा पा रहा सैनिकों का खर्च, 300000 सैनिकों की छंटनी होगी!

दिल्ली: दुनिया की सबसे बड़ी आर्मी रखनेवाला चीन अब सैनिकों का भारी भरकम खर्च उठाने में नाकाम हो रहा है। यही वजह है कि पिछले साल सितंबर महीने में ही चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग सैनिकों की संख्या में कटौती का एलान कर दिया था। एलान के मुताबिक चीन अपने तीन लाख सैनिकों की छंटनी करेगा। इतनी बढ़ी तादाद में छंटनी की खबर सुनकर सेना के जवानों में भी चिंता बढ़ गई है।

इस खबर के सुनते ही सेना की तरफ से विरोध शुरु हो गया है। चीनी सेना में इस वक्त तकरीबन 23 लाख जवान शामिल हैं। शुक्रवार को चीनी सेना ने चेतवनी दी कि कुछ लोग सेना में जारी सुधार प्रक्रिया पर ऑनलाइन अफवाह फैला रहे हैं। सेना ने माना कि कुछ अफवाहों से सेना को नुकसान भी हुआ है। मंगलवार को सेना से निकाले गए सेना के जवानों ने पेइचिंग में प्रदर्शन किया था।

चीनी अर्थव्यवस्था में जारी अस्थिरता और कमजोर विकास दर की वजह से उथल पुथल का माहौल है। पीपल्स लिबरेशन आर्मी डेली ने कहा है कि कुछ स्वघोषित विशेषज्ञों द्वारा आधारहीन कहानियां बताई जा रही हैं। अखबार में लिखा गया है कि उन अफवाहों में कोई दम नहीं जिसमें कहा गया है निकाले गए सैनिकों को उनका लाभ नहीं मिलेगा।

अखबार में लेख निकालकर माहौल को सामान्य बनाने की कोशिश की जा रही है। अखबार के मुताबिक सेना के जवान इन अफवाहों पर विश्वास भी कर रहे हैं। सेना के जवान अफवाहों पर ध्यान नहीं दें और केवल आधिकारिक सूत्रों पर ही विश्वास करें। चीनी सरकार सेना से निकाले गए सभी जवानों को दूसरी जगह नौकरी देना का लगातार भरोसा दे रही है।

Loading...