ओलंपिक में मैडल चाहिए तो सबसे पहले बदलें खेल मंत्री- मिल्खा सिंह

ओलंपिक में मैडल चाहिए तो सबसे पहले बदलें खेल मंत्री- मिल्खा सिंह

दिल्ली: ओलंपिक में पदक की दौड़ में आगे निकलने के लिए फ्लाइंग सिख मिल्खा सिंह ने कुछ सुझाव दिये हैं। उनका कहना है कि अगर इन बातों पर ध्यान दिया जाए तो टोक्यो ओलंपिक में भारत की झोली भी मेडल से भर सकती है।

मिल्खा सिंह ने कहा सबसे पहले हमें अपने खेल मंत्री को बदलना होगा। मिल्खा सिंह ने कहा कि राज्यवर्धन सिंह राठौड़ को केंद्रीय खेल मंत्री बनाना चाहिए। उन्होंने कहा इसके बाद मिलने वाले समर्थन से भविष्य में भारतीय खिलाड़ी बेहतर प्रदर्शन कर सकेंगे। उन्होंने कहा खिलाड़ियों के लिए उचित वित्त और संसाधन मुहैया कराई जाए।

अलग अलग खेलों के लिए अलग अलग प्रमुख बनाए जाएं और भारत पदक ला सके इसके लिए उन्हें हर तरह का समर्थन दिया जाए। भारत में प्रतिभा की कमी नहीं है सही प्रयासों से हम कामयाब हो सकते हैं।

मिल्खा सिंह ने रियो ओलंपिक में पीवी सिंधू, साक्षी मलिक और दीपा कर्माकर के शानदार प्रदर्शन की तारीफ करते हुए कहा, मेडल मिलने के बाद साक्षी और सिंधू के कंधों पर तिरंगा देखकर मैं भावुक हो गया। मेरे साथ यूनिवर्सिटी लेवल की बैडमिंटन प्लेयर रह चुकी मेरी पत्नी निर्मला ने भी पीवी सिंधू, उनके माता-पिता और कोच गोपीचंद को इस बड़ी उपलब्धि के लिए बधाई दी। इसके साथ ही मैं साक्षी मलिक और दीपा कर्माकर के माता-पिता और कोच को उनके त्याग के साथ ही कड़ी मेहनत और दृढ़ संकल्प के लिए बधाई देता हूं। ये वो चीजें हैं जिनकी बदौलत भारतीय विशिष्ट प्रदर्शन करते हैं। यह हमारे बच्चों को लिए प्रेरणा हैं। आप महिलाओं ने भारत को गौरवान्वित किया है और हम आपके आभारी हैं।

जैसे ही रियो ओलंपिक खत्म होता है हमें टोक्यो में ज्यादा से ज्यादा मेडल लाने के मकसद पर जुट जाना होगा। इस दौरान दुनियाभर में हो रहे खेल प्रतिस्पर्धाओं में प्रदर्शन में लगातार सुधार पर भी हमें अपनी नजरें बनाई रखनी चाहिए। आज हमारे पास बुनियादी सुविधाओं और संसाधन मौजूद हैं। कुछ भी कमी नहीं है। हमें वर्ल्ड क्लास कोच की सुविधा लेनी चाहिए। उन्हें और खेल से जुड़े लोगों को सशक्त बना कर सोने के तमगे के पीछे अभी से जुट जाना चाहिए।

Loading...

Leave a Reply