SSP CHD

चंडीगढ़ पुलिस बोली ‘वर्णिका केस का मीडिया ट्रायल न हो’ SSP ने प्रेस कांफ्रेंस बीच में छोड़ी

चंडीगढ़ पुलिस बोली ‘वर्णिका केस का मीडिया ट्रायल न हो’ SSP ने प्रेस कांफ्रेंस बीच में छोड़ी

नई दिल्ली: वर्णिका कुंडु मामले पर चंडीगढ़ पुलिस पर हर तरफ से सवालों की बौछार हो रही है। तीन दिन बाद चंडीगढ़ पुलिस के एसएसपी ईश सिंघल ये बताने आए थे वर्णिका कुंडु मामले में अबतक क्या क्या हुआ। लेकिन मिडिया के पास इस मामले में सवाल ज्यादा थे और पुलिस के पास जवाब कम। एसएसपी सिंघल से जब प्रेस कांफ्रेंस में ये सवाल किया गया कि पीड़ित लड़की ने अपहरण की बात भी कही थी लेकिन उसे पुलिस ने हटा दिया।
मीडिया के इस सवाल पर एसएसपी सिंघल ने कहा इस केस का मीडिया ट्रायल नहीं होना चाहिए। उन्होंने कहा हमने इस पूरे मामले का क्राइम सीन रिक्रिएट किया है। उस रास्ते पर जितने भी सीसीटीवी लगाए गए थे उनके फुटेज मंगाए जा रहे हैं। उनका टेक्निकल एग्जामिन किया जाएगा उसके बाद इस बारे और जानकारी दी जाएगी।

एसएसपी सिंघल ने कहा हर एंगल से इस मामले की जांच की जा रही है। अगर जरुरत हुई तो इसमें और धाराएं जोड़ी जाएगी। किसी के दबाव में जांच नहीं हो रही है। ये सारी जानकारी देने के लिए चंडीगढ़ पुलिस मीडिया के सामने आई थी। लेकिन जब एसएसपी सिंघल से ये सवाल बार बार पूछा जाने लगा कि इस केस में जरुरी धाराओं लगाने से पुलिस बच क्यों रही है तो एसएसपी सिंघल प्रेस कांफ्रेंस बीच में ही छोड़ कर चले गए।
हलांकि पुलिस की तरफ से कहा गया कि हम अपनी जांच कर रहे हैं और बिना किसी दबाव के कर रहे हैं। अबतक केस में जो भी प्रगति हुई है उसके बारे में जानकारी दी जा रही है। अगर जरुरत होगी तो रोजाना शाम के 4 बजे पुलिस प्रेस कांफ्रेंस करेगी।

दरअसल वर्णिका कुंडु के साथ हरियाणा बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला के बेटे विकास बराला ने उस वक्त छेड़खानी करने की कोशिश की जब वो शुक्रवार की रात तकरीबन साढ़े बारह बजे सेक्टर 9 से पंचकुला की तरफ जा रही थी। तभी विकास बराला ने अपनी एसयूवी गाड़ी से वर्णिका का पीछा किया। विकास के साथ उसका दोस्त आशीष कुमार भी था।
आरोपी विकास बराला ने वर्णिका की गाड़ी को कई बार रोकने के कोशिश की। वर्णिका ने कहा उस रात अगर वो मेरी गाड़ी रोकने में कामयाब हो जाते या पुलिस वक्त पर नहीं पहुंचती तो मेरा रेप और उसके बाद हत्या भी हो सकती थी। जब विकास बराला वर्णिका का पीछा कर रहा था उसी वक्त उसने पुलिस को फोन कर दिया। पुलिस ने वर्णिका से कहा वो गाड़ी चलाती रहें। वर्णिका ने वैसा ही किया। आगे एक रेडलाइट पर पुलिस की पहुंच गई। जिसके बाद दोनों आरोपियों को गिरफ्तार किया गया। और इस मामले में एफआईआर दर्ज की गई।

Loading...

Leave a Reply