आर्मी चीफ के बयान पर सियासत: बीजेपी बोली अलगाववादियों की भाषा बोल रही है कांग्रेस

नई दिल्ली: कश्मीर के पत्थरबाजों पर सेना प्रमुख की चेतावनी पर सियासी रंग चढ़ने लगा है। कांग्रेस ने सेना प्रमुख विपिन रावत के बयान को गैर जिम्मेदार बताया है। कांग्रेस ने सेना प्रमुख के बयान पर विरोध जताया था। कांग्रेस के उस बयान पर बीजेपी ने पलटवार किया है। केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता जितेंद्र प्रसाद ने कहा कांग्रेस जो अपने आप को राष्ट्रीय दल कहती है, सस्ती राजनीति के लिए अलगाववादियों की भाषा बोलने के लिए मजबूर हो गई है।

जितेंद्र सिंह ने कहा सेना प्रमुख ने अपने बयान में चिंता जताई है। कोई चेतावनी नहीं दी है। उन्होंने अपील की है कि लोग मुठभेड़ वाली जगह के नजदीक नहीं जाएं। लेकिन कांग्रेस उसे दूसरे तरीके से पेश कर रही है। उन्होंने कहा फ्रस्ट्रेशन की शिकार कांग्रेस ऐसे तरीके अपना रही है, जिनके बारे में लोकतंत्र के इतिहास में किसी ने नहीं सुना। हम राजनीतिक धड़ों और कांग्रेस से अपील करते हैं कि वो ऐसी राजनीति में न पड़ें, जिससे सुरक्षाबलों के मनोबल पर असर पड़े।

दरअसल पिछले दिनों जम्मू कश्मीर में आतंकियों के साथ मुठभेड़ में सेना के एक मेजर समेत तीन जवान शहीद हो गए थे। एनकाउंटर में तीन आतंकी भी मारे गए थे। मुठभेड़ में शहीद जवानों को श्रद्धांजलि देते हुए सेना प्रमुख जनरल विपिन रावत ने कहा था कि जम्मू कश्मीर के वो लोग जो आतंकियों के मददगार बन रहे हैं उनसे अपील है कि वो ऐसा न करें और सेना को अपनी कार्रवाई में सहयोग करें। साथ ही सेना प्रमुख ने कहा था कि अगर इसके बाद भी वो सही रास्ते पर नहीं आते हैं तो फिर सेना उनसे सख्ती से निपटेगी। अगर जरुरत हुई तो उनके खिलाफ गोलियों का भी इस्तेमाल किया जाएगा।

शुक्रवार को रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने भी सेना प्रमुख के बयान का समर्थन किया था। उन्होंने सेना प्रमुख के बयान का समर्थन करते हुए कहा था कि घाटी में जब कहीं एनकाउंटर चल रहा होता है तो उस वक्त सेना को इस तरह के फैसले लेने की खुली छूट दी गई है।

Loading...