चारा घोटाला: लालू यादव को साढ़े तीन साल की सजा, 5 लाख जुर्माना, जमानत नहीं

चारा घोटाला: लालू यादव को साढ़े तीन साल की सजा, 5 लाख जुर्माना, जमानत नहीं

रांची:  बहुचर्चित चारा घोटाले में देवघर कोषागार से 84.5  लाख रुपये के अवैध निकासी के मामले में रांची की सीबीआई कोर्ट ने लालू यादव समेत 16 दोषियों को सजा सुना दिया है। रांची की सीबीआई अदालत ने लालू यादव को सढ़े तीन साल की सजा सुनाई गई है। लालू को 5 लाख जुर्माना भी लगाया गया है। चुकी सजा साढ़े तीन साल की है इसलिए उन्हें जमानत नहीं मिल सकती है। जमानत के लिए उन्हें ऊपरी अदालत में जाना होगा। जिस वक्त लालू को सजा सुनाई जा रही थी तब वो कोर्ट रूम में मौजूद नहीं थे। वो रांची की जेल में बंद थे। वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये उनकी कोर्ट में हाजिरी लगी। वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये ही लालू यादव ने अपनी सजा सुनी।

सीबीआई अदालत ने जिस मामले में सजा सुनाया है वो झारखंड के देवघर ट्रेजरी से जुड़ा है। जहां से 1994 से 1996 के बीच 84.5 लाख रुपये की निकासी की गई थी। लालू उन 22 आरोपियों में से एक हैं जिनके खिलाफ पशुपालन घोटाले में केस चल रहा था। लालू को 23  दिसंबर 2017 को दोषी करार दिया गया था। उसके बाद से ही वो रांची की जेल में हैं।

पशुपालन घोटाले के ही एक दूसरे मालमे में लालू को पांच साल की जेल और 25 लाख रुपये जुर्माना की सजा सुनाई जा चुकी है। लालू को सजा झारखंड के ही चाइबासा ट्रेजरी से 37.5 करोड़ की निकासी से जुड़े मामले में सुनाई गई थी। दिसंबर 2013 में लालू को सुप्रीम कोर्ट से जमानत मिल गई थी।

2014 में पटना हाईकोर्ट ने लालू के खिलाफ चल रहे दूसरे मामलों पर रोक लगा दी थी। कोर्ट के फैसले में कहा गया था कि चुकी लालू को पशुपालन से जुड़े एक मामले में सजा हो चुकी है इसलिए समान व्यक्ति के खिलाफ समान केस में समान सबूत और समान गवाह के बल पर अलग से मुकदमा नहीं चल सकता। लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने हाईकोर्ट के फैसले को खारिज कर दिया। और पशुपालन से जुड़े हर मामले की अलग अलग सुनवाई के आदेश दिये थे।

अभी चारा घोटाले के चार और मामले में फैसला आना बाकी है। यानि ये सजा अंत नहीं है अभी और भी मामले हैं जिनमें लालू यादव आरोपी हैं और वो सभी चारा घोटाला से ही जुड़े हैं। चारा घोटाला तकरीबन 950 करोड़ रुपये का है। लेकिन ये अंतिम आंकड़ा नहीं है। क्योंकि जांच में ये बात भी सामने आ चुकी है कि कई निकासी की सही तरह से एंट्री भी नहीं की गई थी।

Loading...