हाईकोर्ट ने निकाली CM ममता बनर्जी की हेकड़ी, अब मुहर्रम के दिन भी होगा विसर्जन

नई दिल्ली:  सीएम ममता बनर्जी की तरफ से मूर्ति विसर्जन के लिए शाम 6 बजे तक का वक्त तय किये जाने और फिर अगले दिन यानि 1 अक्टूबर को मुहर्रम के दिन विसर्जन ना करने की इजाजत देने के फैसले को कलकत्ता हाईकोर्ट में चुनौती दी गई थी। जिसपर हाईकोर्ट ने राज्य सरकार को कड़ी फटकार लगाई है। हाईकोर्ट ने आदेश पारित करते हुए कहा कि रात के 12 बजे तक विसर्जन किया जाएगा। और मुहर्रम के दिन भी विसर्जन होगा। राज्य सरकार इसके लिए पुलिस और सुरक्षा की पूरी व्यवस्था करे।

हाईकोर्ट ने ममता सरकार से पूछा कि क्या वो कैलेंडर को रोक सकती है। कोर्ट ने कहा पाबंदी आखिरी विकल्प होता है पहला नहीं। इससे पहले बुधवार सरकार के तुगलकी फरमान के खिलाफ दायर याचिका पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने कहा था आप दो समुदायों में दरार क्यों पैदा कर रहे हैं। दुर्गा पूजा और मुहर्रम को लेकर राज्य में कभी ऐसी स्थिति नहीं बनी है, उन्हें साथ रहने दीजिये।

हाईकोर्ट में ये याचिका सीएम ममता बनर्जी की तरफ से किये गए 23 अगस्त के ट्वीट के बाद दायर किया गया था। इस ट्वीट में प्रतिमा विसर्जन की इजाजत शाम के 6 बजे तक ही दी गई थी। अगले दिन मुहर्रम होने की वजह से विसर्जन पर रोक लगा दी गई थी। और फिर 2 अक्टूबर से विसर्जन के आदेश दिये गए थे।

Loading...