दिल्ली में बर्गर किंग के बर्गर ने गला चीर दिया, शिफ्ट मैनेजर गिरफ्तार

नई दिल्ली:  दिल्ली के राजीव चौक मेट्रो स्टेशन पर एक लोकप्रिय अमेरिकी फास्ट फूड चेन बर्गर किंग से बर्गर खाना एक व्यक्ति के लिए महंगा पड़ गया । बर्गर खाने से गले में घाव हो गया। जिसके बाद उसे अस्पताल में भर्ती होने पड़ा। वजह बर्गर में प्लास्टिक का एक टुकड़ा था। पीड़ित की शिकायत पर पुलिस ने शिफ्ट मैनेजर को गिरफ्तार कर लिया। जिसे बाद में जमानत दे दी गई।

बताया जा रहा है राकेश कुमार नामक एक शख्स ने रविवार को बर्गर किंग आउटलेट से चीज वेज बर्गर खरीदा था। लेकिन बर्गर खाने के दौरान राकेश कुमार को बर्गर में किसी सख्त चीज होने का आभास हुआ। जिसके बाद राकेश कुमार को उलटी आने लगी। राकेश कुमार ने इस बारे में शिफ्ट मैनेजर और पुलिस को जानकारी दी जिसके बाद उन्हें लेडी हार्डिंग अस्पताल ले जाया गया।

पुलिस के अनुसार बर्गर में एक प्लास्टिक का टुकड़ा था।जिससे राकेश कुमार की भोजन नली में घाव हो गया। उसे अस्पातल में इलाज के बाद में छुट्टी दे दी गई है। जिसके बाद पीड़ित की शिकायत के आधार पर पुलिस ने बर्गर किंग और उसके शिफ्ट मैनेजर के खिलाफ आईपीसी की संबंधित धाराओं में केस दर्ज किया।और शिफ्ट मैनेजर को गिरफ्तार कर लिया गया था।
पहली नहीं है ये घटना

बताते चलें कि कुछ महीने पहले चिली बर्गर खाने से दिल्ली के एक युवक के पेट का अंदरूनी हिस्सा बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया था। युवक को अस्पताल ले जाना पड़ा। पीड़ित युवक ने एक रेस्त्रां में चिली बर्गर खाने की प्रतियोगिता में हिस्सा लिया था। जीतने वाले को एक महीने तक रेस्त्रां में फ्री खाने का मौका मिलने वाला था।

युवक सबसे ज्यादा चिली बर्गर खाकर विजेता तो बन गया लेकिन अगले दिन ही खून की उल्टियां करने लगा। बिगड़ती हालत को देखकर घरवालों ने युवक को बीएल कपूर अस्पताल में दाखिल कराया था। डॉक्टरों ने युवक का इंडोस्कोपी कराया तो पता चला कि उसके पेट का अंदरूनी हिस्सा फट गया है। डॉक्टरों को पेट की सर्जरी करनी पड़ी। और उसे लिक्विड डाइट पर रहना पड़ा था।

डॉ. दीप गोयल के अनुसार इंडोस्कोपी से पता चला कि युवक के पेट की इनर लाइनिंग डैमेज हो गई थी। जिस कारण उन्हें खून की उल्टिया होने लगी।

सर्जरी के जरिये लाइनिंग का जितना एरिया फट गया था उसे बाहर निकाला गया। जो बच गया था उसे ठीक करने के लिए दवा दिया गया। डॉक्टर ने कहा कि जो लाइनिंग फटी थी। उसका रिपेयर संभव बिना सर्जरी के संभव नहीं था।

Loading...