सहारनपुर हिंसा: बीएसपी सुप्रीमो मायावती कर रही है भीम आर्मी का समर्थन- खुफिया रिपोर्ट

लखनऊ:  सहारनपुर हिंसा को लेकर लोकर इंटेलिजेंस यूनिट ने सीएम योगी को अपनी रिपोर्ट सौंपी है। रिपोर्ट में इस बात का जिक्र किया गया है कि दलितों के संगठन भीम आर्मी को बीएसपी सुप्रीमो मायावती का समर्थन प्राप्त है। रिपोर्ट में ये भी कहा गया है कि अंबेडकर जयंती से लेकर अबतक मायावती के भाई और भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद लगातार संपर्क में हैं।

वहीं सहारनपुर में हालात बिगड़ने के बाद से ही भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद फरार हैं। हलांकि बुधवार को एक टीवी चैनल पर उन्होंने अपना इंटर्व्यू दिया था। जिसमें उन्होंने कहा था कि एक-दो दिनों में वो कोर्ट में सरेंडर कर देंगे। चंद्रशेखर आजाद से उसी इंटर्व्यू में मायावती को लेकर भी सवाल किये गए थे। लेकिन आजाद ना इस बात से इनकार किया था कि उन्हें मायावती या उनकी पार्टी बीएसपी की तरफ से किसी तरह की मदद मिल रही है।

चंद्रशेखर ने कहा था मायावती अपनी राजनीति कर रही हैं और भीम आर्मी समाज फैली बुराइयों को दूर कर रही है। भीम आर्मी का लक्ष्य दलितों का उत्थान करना है। चंद्रशेखर ने कहा था राजनीति में जाने का उनका कोई इरादा नहीं है। उन्होंने केवल दलित समाज के उत्थान के लिए भीम आर्मी तैयार की है।

लेकिन अब यूपी के लोकल इंटेलिजेंस यूनिट ने जो रिपोर्ट दी है उसके बाद भीम आर्मी और इसके संस्थापक चंद्रशेखर आजाद सवालों में घिर गए हैं। सवाल ये भी उठाए जा रहे हैं कि क्या सहारनपुर हिंसा की आग इसलिए इतनी भयावह हुई क्योंकि उसे राजनीतिक हवा दी जा रही थी। और जिस बीएसपी से जान पहचान, साठगांठ या किसी तरह की मदद लेने या मिलने से भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद इनकार करते रहे थे दरअसल पर्दे के पीछे से उसी बीएसपी से भीम आर्मी को मदद पहुंचाई जा रही थी।

दरअसल जांद में इस तरह की बात सामने आई थी कि सहारनपुर में हिंसा फैलाने में भीम आर्मी का भी हाथ रहा है। इसलिए अशांति इतने दिनों तक चल रही है।

सहारनपुर के हालात को देखते हुए वहां धारा 144 लागू कर दी गई है। मोबाइल मैसेज और इंटरनेट सेवा पर भी रोक लगा दी गई है। सीएम योगी ने लोगों से अफवाह और भड़काऊ बयान पर ध्यान न देने की अपील की है। सहारनपुर में प्रशासनिक फेरबदल भी बुधवार को किया गया। जिसके तहत वहां के डीएम और एसएसपी को सस्पेंड कर दिया गया।

Loading...

Leave a Reply