BSP ने जिन्हें रिजेक्ट कर दिया उनके गले में BJP ने पट्टा डाल दिया- मायावती

आजमगढ़:  यूपी विधानसभा चुनाव में BSP का हाथी सही दिशा में संतुलित होकर चले इसके लिए पार्टी सुप्रीमो मायावती संभलकर अपना सियासी कदम बढ़ा रही है। कोशिश ये है कि बगैर गलती किये विरोधी को चित किया जाए। वार ऐसा किया जाए कि उसपर विवाद भी न हो और विरोधी भी परास्त हो जाएं।

आजमगढ़ में सर्वजन हिताय की दूसरी रैली में मायावती ने बीजेपी पर हमला करते हुए कहा कि BSP जिन नेताओं को रिजेक्ट कर रही है बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष उनके गले में पट्टा डाल रहे हैं। मायावती ने कहा जो पार्टी छोड़कर जा रहे हैं वो रिजेक्टेड माल हैं। वो लोग व्यक्तिगत और परिवार के स्वार्थ में पार्टी छोड़कर गए हैं,उनके लिए आभारी हूं। ये गंदगी खुद निकल गई और सारी गंदगी बीजेपी में चली गई।

मायावती का निशाना स्वामी प्रसाद मौर्य और ब्रजेश पाठक पर था। जिन्होंने हाल ही में बीएसपी इसलिए छोड़ी क्योंकि उनका आरोप था कि मायावती चुनाव में टिकट बेच रही हैं। उनके बारे में मायावती ने कहा कि बीएसपी छोड़कर जो जाता है वो अकेले ही जाता है उनके फॉलोवर नहीं जाते। मायावती ने कहा कि बिकाऊ किस्म के लोगों को BSP टिकट नहीं देगी।

तिलक तराजू तलवार पर मायावती ने कहा कि इस नारे को बीएसपी से जबरन जोड़ा गया। जबकि सच्चाई ये है कि बीएसपी ने ऐसा नारा कभी दिया ही नहीं। उन्होंने कहा कि अगर बीएसपी कमजोर होती तो लोग करोड़ों रुपये टिकट के लिए नहीं देते। पार्टी के बारे में झूठा प्रचार किया जा रहा है।

मायावती ने अपने कार्यकर्ताओं से कहा की विरोधी पर जवाबी हमला करने में संयम बरतें। उनका इशारा दयाशंकर सिंह प्रकरण से हुए नुकसान की तरफ था। मायावती ने कहा कि उत्तेजित होकर विरोधी को जवाब देने के बजाय कानूनी लड़ाई लड़ें। आसमान पर थूकने से खुद पर ही थूक पड़ता है।

यूपी की अखिलेश सरकार पर निशाना साधते हुए मायावती ने कहा कि BSP अगर सत्ता में आई तो जंगलराज को खत्म करेगी। गुंडा माफिया जेल जाएंगे, कब्जे वाली जमीन छुड़वाएगी और जिन पार्कों और संस्थानों के नाम बदले गए हैं उन्हें वापस पुराना नाम दिया जाएगा। आज महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं। मथुरा और बुलंदशहर की घटना को भुलाया नहीं जा सकता।

Loading...

Leave a Reply