निजी सर्विस प्रोवाइडर को छोड़ ग्राहक अब BSNL में नंबर पोर्ट करवा रहे हैं

प्रियांशु आनंद/पुर्णिया
पुर्णिया/बिहार:  मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी की सर्विस के तहत जनवरी से अबतक निजी मोबाइल कंपनियों के डेढ़ लाख मोबाइल उपभोक्ताओं ने निजी मोबाइल सर्विस को बाय बाय कहते हुए बीएसएनएल का दामन थाम लिया है। बीएसएनएल द्वारा कई नई योजनाएं व एयरसेल के बंद होने के बाद उपभोक्ता बीएसएनएल की ओर रूख कर रहे हैं। हालांकि पिछले वित्तीय वर्ष में करीब 80 हजार बीएसएनएल मोबाइल उपभोक्ताओं ने भी निजी कंपनियों का दामन थामते हुए मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी का इस्तेमाल किया।
उक्त आंकड़े की जानकारी देते उप महाप्रबंधक (विक्रय एवं विपणन), बिहार परिमंडल, पटना, मनीष कुमार बताते हैं कि निजी कंपनियों से मोबाइल उपभोक्ताओं का बीएसएनएल सर्विसेज की ओर आने का सिलसिला जारी है। उन्होंने बताया कि बीएसएनएल का घर वापसी प्लान और पोस्टपेड प्लान 399 के अलावा एसटीवी 47, एसटीवी 99, एसटीवी 319, एसटीवी 187, एसटीवी 429, एसटीवी 666 और एसटीवी 999 के कारण मोबाइल उपभोक्ता बीएसएनएल की ओर आकर्षित हो रहे हैं। इस प्लान के तहत 11 दिन से लेकर 181 दिनों की वैलिडिटी के साथ साथ अनलिमिटेड कॉलिंग व इंटरनेट डाटा उपभोक्ताओं को दिया जाता है।
नए बीटीएस टॉवर व एयरसेल के बंद होने के बाद मची है होड़
बता दें कि शहरी क्षेत्रों के बीटीएस टॉवर को रिप्लेस करने के बाद ग्रामीण क्षेत्रों में पिछले वित्तीय वर्ष में बड़ी संख्या में बीटीएस टॉवर की संख्या बढ़ाई गई थी। कटिहार एसएसए में 52 टूजी व 52 थ्री जी बीटीएस टॉवर लगाए गए हैं। जिसका नतीजा यह रहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में भी बीएसएनएल के सिग्नल अन्य निजी ऑपरेटरों के मुकाबले बेहतर हैं और शहरी क्षेत्र के साथ साथ ग्रामीण क्षेत्रों में भी सिग्नल गायब होने की समस्या पहले से कम हुई है। साथ ही एयरसेल के बंद होने के बाद अबतक एक लाख एयरसेल के उपभोक्ता बीएसएनएल का दामन थाम चुके हैं। साथ ही 24 व 25 मार्च को पूरे सूबे में लगाई गई मेगा शिविर में और 50 हजार एयरसेल उपभोक्ताओं को समेटा गया।
मेगा शिविर से आ रहे हैं बेहतर परिणाम
बीएसएनएल के बिहार परिमंडल के विक्रय एवं विपणन उप महाप्रबंधक मनीष कुमार ने जानकारी दी  24 व 25 मार्च को लगाई गई मेगा शिविर से बेहतर परिणाम सामने आए। जनवरी से अबतक डेढ़ लाख नए उपभोक्ता मोबाइल पोर्टेबिलिटी के तहत बीएसएनएल के उपभोक्ता बन चुके हैं जिसमें सिर्फ एयरसेल के करीब एक लाख उपभोक्ता शामिल हैं। मोबाइल पोर्टेबिलिटी को और भी लचीला बनाया जा रहा है। ताकि बड़ी संख्या में अन्य निजी ऑपरेटरों के उपभोक्ता पोर्ट कराने के बाद बीएसएनएल की सेवाओं का लुत्फ उठा सके।
Loading...