खराब खाने की शिकायत करनेवाले तेज बहादुर BSF से बर्खास्त

नई दिल्ली:  BSF में खराब खाने की शिकायत करने वाले तेज बहादुर को BSF से बर्खास्त कर दिया है। खराब खाने की शिकायत करने के बाद बीएसएफ ने इसपर जांच बिठा दी थी। जांच रिपोर्ट के सामने आने के बाद तेज बहादुर को बर्खास्त करने का फैसला लिया गया। तेज बहादुर को BSF की छवि खराब करने का दोषी पाया गया। बीएसएफ की तरफ से कहा गया कि जिस खराब खाने की शिकायत तेज बहादुर कर रहे थे वहां ऐसी कोई गड़बड़ी नहीं पाई गई। तेज बहादुर पर अनुशासन तोड़ने का भी आरोप लगा था।

इसे भी पढ़ें

बाबरी केस में आडवाणी, जोशी, उमा समेत 10 पर चलेगा आपराधिक केस, SC का फैसला

तेज बहादुर को बर्खास्त करने के BSF के फैसले के बाद उनकी पत्नी ने कहा कि उनके साथ गलत हुआ है। सरकार को उनका साथ देना चाहिए था। लेकिन ऐसा नहीं किया गया। उन्होंने 20 साल तक BSF में नौकरी की। जब उनके रिटायरमेंट का वक्त आया तो उन्हें बर्खास्त कर दिया गया। उनकी पत्नी ने कहा कि तेज बहादुर के साथ जिस तरह का बर्ताव किया गया उसके बाद कोई भी मां-बाप अपने बच्चे को फौज में भेजने से पहले सौ बार सोचेंगे।

BSF के जवान तेज बहादुर यादव ने वीडियो के जरिये खराब खाने की शिकायत की थी। जिसमें उच्च अधिकारियों पर राशन बेचने का आरोप भी लगाया गया था। इस वीडियो के सामने आने के बाद गृह मंत्रालय ने भी उच्च स्तरीय जांच के आदेश दे दिये थे। तेज बहादुर ने खराब खाने की शिकायत वाला वीडियो अपने फेसबुक अकाउंट पर अपलोड किया था। जिसके बाद ये वायरल हो गया था।

इसे भी पढ़ें

VIP कल्चर पर पीएम मोदी का बड़ा फैसला, कोई नहीं लगा सकेगा लाल बत्ती

खाने की शिकायत वाला वीडियो सामने आने के बाद तेज बहादुर को कैंप ड्यूटी से हटाकर हेडक्वार्टर भेज दिया गया जहां उसे प्लंबर का काम दिया गया है। इसपर बीएसएफ ने कहा था पूरे मामले की निष्पक्ष जांच की जा रही है। जांच पर किसी तरह का असर न हो इसलिए तेज बहादुर को कैंप ड्यूटी से हटाकर हेडक्वार्टर पर तैनात किया गया है।

इसे भी पढ़ें

सोनू निगम के खिलाफ फतवा, जूते की माला पहनाने वाले को 10 लाख का इनाम

दूसरी तरफ तेज बहादुर की पत्नी ने भी BSF के खिलाफ मोर्चा खोल दिया था। उनपर सीनियर अधिकारियों के साथ गलत बर्ताव करने का आरोप भी लगाया गया था। बीएसएफ की तरफ से कहा गया था कि तेज बहादुर ने एक बार अपने सीनियर अफसर पर रायफल तान दी थी। उस वक्त बीएसएफ की तरफ से कहा गया था कि इस मामले में उसका कोर्ट मार्शल होना था लेकिन परिवार का खयाल कर ऐसा नहीं किया गया। इसपर उनकी पत्नी ने तब कहा था अगर वो मानसिक तौर पर फिट नहीं हैं तो BSF ने उन्हें बंदूक क्यों दिया।

Loading...