टेररिस्तान ने पहली बार माना ‘भारत ने हमारे तस्करों को मार डाला’

नई दिल्ली:  पंजाब में पाकिस्तान से सीमा पार कर ड्रग्स की तस्करी करने भारत आए दो तस्करों को बीएसएफ ने मार गिराया। इन दोनों तस्करों के पास से 20 करोड़ के हेरोइन बरामद की गई थी। इन तस्करों का संबंध पाकिस्तान से है जब भारत ने इस बात के सबूत पाकिस्तान के सामने रखे तो उसे मजबूरन ये मानना पड़ा कि दोनों तस्कर पाकिस्तानी थे। पाकिस्तान ने केवल तस्करों को अपना ही नहीं माना बल्कि उनके शव भी लेने के लिए मजबूर हो गया।

पाकिस्तान काफी दिनों से सीमा पर से नशे की खेप भारत भेजता रहा है। नशे का कारोबार करनेवाले पाकिस्तान (अब टेररिस्तान) को इसबार उसी चाल भारी पड़ी। जब पंजाब में उसके दो तस्कर मारे गए। और उसे ये कबूल भी करना पड़ा कि ये तस्कर पाकिस्तानी ही हैं।

अमृतसर के अजनाला सेक्टर में बीएसएफ ने दो घुसपैठियों को मार गिराया था। फ्लैग मीटिंग में पाकिस्तान ने तस्करों को अपना मानने से इनकार कर दिया। लेकिन जब बीएसएफ ने पाकिस्तानी रेंजर्स के सामने इन तस्करों के पाकिस्तानी होने के सबूत रखे तो उनकी बोलती बंद हो गई। मारे गए तस्करों के पास से हथियार, 20 हजार पाकिस्तानी रुपये, पाकिस्तानी मोबाइल और पाकिस्तान का ही सिम कार्ड बरामद हुआ है।

इतने सबूत को सामने देख टेररिस्तान की हर चालबाजी धरी की धरी रह गई। और भारी मन से उसे ये मानना पड़ा कि ये उसके नागरिक हैं और उसे इनके शव को भी पहली बार लेना पड़ा।

Loading...

Leave a Reply