britain-share-market

BREXIT का भारत में दिखने लगा असर, सेंसेक्स और निफ्टि में गिरावट, पाउंड भी लुढका

BREXIT का भारत में दिखने लगा असर, सेंसेक्स और निफ्टि में गिरावट, पाउंड भी लुढका

यूरोपीय यूनियन के साथ ब्रिटेन रहेगा या नहीं इसपर कुछ घंटों में तस्वीर साफ हो जाएगी। ब्रिटेन में जनमत संग्रह के बाद फिलहाल वोटों की गिनती चल रही है। शुरुआती रुझान में यूरोपीय यूनियन का हिस्सा नहीं रहनेवालों के पक्ष में रुझान आ रहे हैं। 382 क्षेत्रों में कराए गए जनमत संग्रह में से 309 के नतीजे ‘लीव’ के पक्ष में आए हैं।

britain-eu-flagBREXIT का असर भारतीय बाजार में भी दिखने लगा है। शेयर मर्केट खुलने के साथ ही सेंसेक्स में गिरावट शुरु हो गई। शुरुआती कारोबार के कुछ मिनटों में ही ये गिरावट 900 अंकों तक पहुंच गया। निफ्टि में भी गिरावट का सिलसिला देखने को मिला। निफ्टि में गिरावट 233 अंकों तक पहुंच गया। ब्रिटेन में हुए जनमत संग्रह के नतीजे जैसे जैसे सामने आ रहे थे उसका असर भी दिखने लगा था। भारतीय बाजार लाल निशान पर पहुंच गया। लेकिन पाउंड भी अपने बुरे दौर मे पहुंच गया। नतीजे आने से पहले पाउंड 1.50 डॉलर पर चल रहा था। लेकिन जब नतीजों का रुझान यूरोपीय यूनियन से अलग होने के पक्ष में दिखने लगा तो पाउंड 1.14 डॉलर पर आ गया। पाउंड में आई ये गिरावट 1985 के बाद सबसे निचले स्तर पर था।

वहीं जनमत संग्रह में जो रुझान सामने आए हैं उसमें ज्यादातर लोग ‘लीव’ यानी ब्रिटेन के यूरोपीय यूनियन का हिस्सा नहीं रहने के पक्ष में है। लीव के पक्ष में 51.3 फीसदी वोट पड़े हैं। जबकि ‘रीमेन’ यानी यूरोपीय यूनियन में बने रहने के पक्ष में 48.7 फीसदी लोगो ने वोट डाले हैं। अनुमान के मुताबिक 4 करोड़ 60 लाख से ज्यादा लोगों ने इस मतदान में हिस्सा लिया। जिसमें करीब 12 लाख लोग भारतीय मूल के हैं।
-Britain Share Market, European Union, Brexit

Loading...

Leave a Reply