ARUN JETLY GST

वित्त मंत्री से महिलाओं की अपील वित्त मंत्री जी #लहूकालगान मत लो

वित्त मंत्री से महिलाओं की अपील वित्त मंत्री जी #लहूकालगान मत लो

नई दिल्ली:  सेनिटरी नैपकिन को GST कर के दायरे में रखने का विरोध शुरु हो गया है। इस विरोध की शुरुआत हुई है बॉलीवुड अभिनेत्रियों की तरफ से। अभिनेत्रियों की तरफ सेनिटरी नैपकिन पर GST का विरोध किया जा रहा है। उनके इस विरोध का असर ट्वीटर पर भी देखा जा रहा है। जहां #लहूकालगान ट्रेंड कर रहा है।

अदिती राव हैदरी समेत कई बॉलीवुड अभिनेत्रियों ने वित्त मंत्री अरुण जेटली को टैग करके अपने विरोध का मैसेज उनतक पहुंचाया है। लेकिन इस विरोध में केवल बॉलीवुड अभिनेत्रियां ही शामिल नहीं हैं बल्कि कई आम महिलाएं भी इस विरोध में अपना सुर मिला रही हैं। वित्त मंत्री से अपील में कहा जा रहा है कि देश में मंहगा होने की वजह ज्यादातर महिलाएं सेनिटरी नैपकिन का इस्तेमाल नहीं करती हैं। अब अगर इसे GST के दायरे में ला दिया जाएगा तो इस बात की संभावना है कि यह कई आम महिलाओं की पहुंच से दूर हो जाए।

अभिनेत्री हैदरी ने वित्त मंत्री को टैग किये अपने ट्वीट में लिखा है अरुण जेटली जी, सेनिटरी नैपकिन हमारी जरुरत है लग्जरी नहीं। कृपया इसे GST से बाहर कर दीजिये। ताकि ज्यादा महिलाएं इसका इस्तेमाल कर सकें। कंडोम को देश में टैक्स फ्री किया गया है। ताकि सुरक्षित शारीरिक संबंध संभव हो। उसी तरह से सेनिटरी नैपकिन भी है। इसलिए सेनिटरी नैपकिन को भी टैक्स फ्री किया जाना चाहिए।

बैडमिनटन खिलाड़ी ज्वाला गुट्टा ने भी सेनिटरी नैपकिन पर जीएसटी लगाने का विरोध किया है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा है मिस्टर अरुण जेटली यह बेहद आश्चर्यजनक है। मुझे कभी भी नहीं पता था कि सेनिटरी नैपकिन का इस्तेमाल करना लग्जरी है। आपसे रिक्वेस्ट करती हूं कि सेनिटरी नैपकिन पर टैक्स न लगाया जाए। ताकि यह हमारे देश की महिलाओं के लिए उपलब्ध हो सके। #लहूकालगान

 

अभिनेत्री मल्लिका दुआ ने ट्वीट किया कि हमारे देश में आज भी 88 फीसदी महिलाएं कपड़े के टुकड़े, राख, लकड़ी का बुरादा, और फूस का इस्तेमाल करती हैं। क्या सेनिटरी नैपकिन पर भी टैक्स लगा देंगे?

Loading...

Leave a Reply