navjoth-singh-sidhu

Navjot Singh Sidhu ने राज्यसभा से दिया इस्तीफा, AAP में हो सकते हैं शामिल

Navjot Singh Sidhu ने राज्यसभा से दिया इस्तीफा, AAP में हो सकते हैं शामिल

बीजेपी से राज्यसभा सांसद Navjot Singh Sidhu ने राज्यसभा से इस्तीफा दे दिया है। Sidhu ने सोमवार को राज्यसभा के चेयरमैन को अपना इस्तीफा दिया। बीजेपी ने अप्रैल में Sidhu को राज्यसभा के लिए मनोनीत किया था। इसमें खास बात ये है कि Sidhu का इस्तीफा केवल राज्यसभा या दिल्ली तक ही नहीं है। इसका एक कनेक्शन पंजाब के विधानसभा चुनाव से भी जुड़ रहा है।

राज्यसभा से इस्तीफा देने के बाद अब चर्चा ये हो रही है कि Sidhu आम आदमी पार्टी में शामिल हो सकते हैं। आम आदमी पार्टी के सूत्रों के मुताबिक Sidhu को पार्टी पंजाब में सीएम उम्मीदवार बनी सकती है। हलांकी इस बारे में अभी कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। पंजाब में अगले साल विधानसभा चुनाव है।

ऐसा नहीं है कि Sidhu ने अचानक ही इस्तीफा दिया है। इसकी सुगबुगाहट कुछ महीनों पहले से ही सुनी जा रही थी। जिसके बाद खबर ये भी आई थी कि Sidhu को मनाने के लिए बीजेपी की तरफ से भी पूरी कोशिश की जा रही है। Sidhu को बीजेपी की तरफ से विधानसभा चुनाव में प्रचार अभियान का प्रमुख बनाने पर भी चर्चा चल रही थी। बीजेपी के पंजाब प्रभारी प्रभात झा और Sidhu के बीच कई मुलाकात भी हुई थी। लेकिन अब जिस तरह से Sidhu ने राज्यसभा से इस्तीफा दिया है उससे ये इशारा भी मिल रहा है कि Sidhu को मनाने की बीजेपी की कोशिश नाकाम रही।

Sidhu के आम आदमी पार्टी में शामिल होने की संभावना पर जब पंजाब से आप के सांसद भगवंत मान से सवाल किया गया तो उनका कहना था कि अगर Sidhu आना चाहते हैं तो उनका स्वागत है। अगर वो आते हैं तो उनकी छवि का फायदा होगा। वो अच्छे वक्ता हैं और प्रचार में भी मदद मिलेगा।
हलांकी कुछ दिनों पहले Navjot Singh Sidhu की पत्नी Navjot कौर Sidhu ने भी बीजेपी से अपनी नाराजगी जताई थी। जिसमें उन्होंने कहा था कि अगर बीजेपी अगला चुनाव शिरोमणी अकाली दल के साथ मिलकर लड़ती है तो वो बीजेपी से अलग हो जाएंगी।

इसके बाद अब Sidhu का राज्यसभा से इस्तीफा ये बताता है कि आनेवाले दिनों में उनकी पत्नी Navjot कौर Sidhu भी बीजेपी को अलविदा कह सकती हैं। ये नाराजगी 2014 के लोकसभा चुनाव से भी जुड़ता है। जब उनकी जगह जेटली को टिकट दिया गया था। पार्टी ने सिद्दू से जेटली के लिए प्रचार करने के लिए भी कहा था। लेकिन वो जेटली के लिए प्रचार करने नहीं पहुंचे। खासबात ये है कि उन्होंने जेटली के खिलाफ भी किसी तरह का प्रचार नहीं किया था।

Loading...

Leave a Reply