बदजुबानी में पहले कुर्सी गई, फिर FIR अब पार्टी ने भी निकाला

बीएसपी सुप्रीमो मायावती के खिलाफ बदजुबानी यूपी बीजेपी के उपाध्यक्ष दयाशंकर सिंह को भारी पड़ी। मायावती पर की गई अश्लील टिप्पणी के बाद पहले पार्टी ने उन्हें उपाध्यक्ष बद से हटाया। उधर बीएसपी की तरफ से लखनऊ में दयाशंकर के खिलाफ एससी-एसटी एक्ट के तहत केस दर्ज कराया गया। उसके बाद पार्टी ने उन्हें 6 साल के लिए बाहर का रास्ता दिखा दिया। यानि एक गलत शब्द के इस्तेमाल ने दयाशंकर को पार्टी दफ्तर से सड़क पर ला दिया।

हलांकी जब उनके बयान पर हंगामा बढ़ा तो उन्होंने अपने बयान के लिए माफी मांगी। ये भी कहा कि उनका मकसद ऐसा करना नहीं था। लेकिन उनकी जुबान फिसल गई। अगर मायावती जी को उससे ठेंस पहुंची है तो वो माफी मांगते हैं। लेकिन दयाशंकर की ये माफी नाकाफी साबित हुई उन्हें निर्दोष साबित करने में। नतीजा सभी के सामने है। अब दयाशंकर यूपी बीजेपी के उपाध्यक्ष भी नहीं रहे, पार्टी में भी नहीं रहे और थाने में उनके खिलाफ FIR हुआ सो अलग।

मायावती के अपमान को लेकर लखनऊ में बीएसपी कार्यकर्ता प्रदर्शन कर रहे हैं। प्रदर्शन कर रहे बीएसपी कार्यकर्ता दयाशंकर को गिरफ्तार करने की मांग कर रहे हैं। प्रदर्शनकारियों ने एक बीजेपी नेता की गाड़ी में तोड़फोड़ भी की है। वहीं यूपी के सीएम अखिलेश यादव ने कहा है कि इस मामले में जो भी जरुरी कारर्वाई होगी की जाएगी।

Loading...

Leave a Reply