उपचुनाव में जींद में खिला कमल, राजस्थान की रामगढ़ में जीती कांग्रेस

नई दिल्ली:  हरियाणा के जींद उपचुनाव में कांग्रेस के रणदीप सुरजेवाला को हार का सामना करना पड़ा। जींद उपचुनाव का नतीजा खास इसलिए है क्योंकि यहां दो चुनाव में विजेता रही इनेलो इस बार पांचवे स्थान पर चली गई। जबकि सूरजेवाला पर खेला गया कांग्रेस का दांव बेअसर रहा। यहां से बीजेपी ने दिवंगत विधायक डॉ. हरिचंद मिड्ढा के बेटे कृष्ण मिड्ढा को अपना उम्मीदवार बनाया था।

कृष्ण मिड्ढा ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी जननायक जनता पार्टी यानि जेजेपी के उम्मीदवार दिग्विजय सिंह चौटाला को 12 हजार से ज्यादा वोटों से हराया। जबकि कांग्रेस के रणदीप सुरजेवाला तीसरे स्थान पर रहे। बीजेपी की इस जीत की सबसे बड़ी वजह इनेलो की टूट मानी जा रही है।

हरियाणा में जींद उपचुनाव 28 जनवरी को हुआ था। जिसमें 76 फीसदी मतदाताओं ने मतदान किया था। यहां से कुल 21 उम्मीदवार मैदान में थे। हलांकि ये सीट जाट बहुल है। लेकिन 1972 के बाद यहां से कोई भी जाट उम्मीदवार चुनाव नहीं जीता है। इस विधानसभा में कुल 1.70 लाख मतदाताओं में 45 हजार जाट और करीब 35 हजार दलितों की आबादी है।

राजस्थान की रामगढ़ सीट पर कांग्रेस की जीत

रामगढ़ विधानसभा उपचुनाव में जीत के साथ ही 200 सदस्यों वाली राजस्थान विधानसभा में कांग्रेसी विधायकों की संख्या 100 हो गई है। पूर्ण बहुमत के लिए अब कांग्रेस को केवल 1 विधायक की जरुरत है। यहां से कांग्रेस उम्मीदवार शफिया जुबैर ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी बीजेपी के सुखवंत सिंह को 12 हजार से ज्यादा वोटों से हराया।

इस जीत के बाद राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट किया आज मुझे बहुत खुशी है कि रामगढ़ की जनता ने सही फैसला किया है। सोच-समझकर किया है। मैं रामगढ़ के मतदाताओं को बहुत बहुत धन्यवाद देता हूं। आभार प्रकट करता हूं। मुझे बेहद प्रसन्नता है कि उन्होंने कांग्रेस को आशीर्वाद दिया है। यह फैसला ऐसे वक्त किया है जब एक मैसेज देने की आवश्यकता थी।

(Visited 25 times, 1 visits today)
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *