जम्मू-कश्मीर में बीजेपी ने PDP से समर्थन वापस लिया, महबूबा मुफ्ती ने दिया इस्तीफा

नई दिल्ली:  बीजेपी ने जम्मू-कश्मीर में पीडीपी सरकार से समर्थन वापस ले लिया है। बीजेपी ने राज्य में राज्यपाल शासन की मांग की है। बीजेपी अध्यक्ष ने आज दिल्ली में जम्मू कश्मीर में बीजेपी के सभी बड़े नेताओं के साथ बैठक की। जिसके बाद समर्थन वापस लेने का फैसला लिया गया। महबूबा मुफ्ती ने बीजेपी के समर्थन वापसी के बाद राज्यपाल एन एन वोहरा को अपना इस्तीफा सौंप दिया है। बीजेपी कोटे के सभी मंत्रियों ने भी अपना इस्तीफा दे दिया है।

बीजेपी ने समर्थन वापसी की चिट्ठी राज्यपाल एन एन वोहरा को सौंप दी है। साथ ही बीजेपी ने राज्यपाल शासन की मांग भी की है। आज दिल्ली में जम्मू-कश्मीर के बीजेपी नेताओं के साथ बैठक से पहले राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल के साथ बैठक की थी।

समर्थन वापसी के बाद बीजेपी नेता राम माधव ने कहा कि हमने गृह मंत्रालय, जम्मू-कश्मीर के तीन साल के कामकाज और सभी एजेंसियों से राय लेने के बाद किया। जिसके बाद ये तय हुआ कि बीजेपी अपना समर्थन वापस ले रही है। राम माधव ने कहा कि तीन साल पहले जो जनादेश आया था, तब ऐसी परिस्थितियां थी जिसके कारण ये गठबंधन हुआ। लेकिन जो परिस्थितियां बनती जा रही थीं उससे गठबंधन में आगे चलना मुश्किल हो गया था।

बीजेपी के समर्थन वापसी पर कांग्रेस ने कहा कि बीजेपी सारे हालात के लिए पीडीपी को जिम्मेदार ठहराकर बच नहीं सकती। उन्होंने बीजेपी-पीडीपी गठबंधन के लिए हिमालयन ब्लंडर का जिक्र किया। कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि जब ये गठबंधन हुआ था तब हमने कहा था ये हिमालयन ब्लंडर होगा। साथ ही गुलाम नबी आजाद ने कहा कि हम पीडीपी को समर्थन नहीं देंगे।

Loading...