MANOJ TIWARI

बीजेपी ने MCD चुनाव में मिली जीत सुकमा में शहीद CRPF जवानों को समर्पित की

बीजेपी ने MCD चुनाव में मिली जीत सुकमा में शहीद CRPF जवानों को समर्पित की

नई दिल्ली:  दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने MCD में मिली जीत को सुकमा के शहीदों के नाम समर्पित किया है। सोमवार को सुकमा में हुए नक्सली हमले में सीआरपीएफ के 25 जवान शहीद हो गए थे। इसी वजह से पार्टी ने दिल्ली में मिली इस जीत का जश्न भी नहीं मनाया। पीएम मोदी ने भी ट्वीट कर इस जीत के लिए दिल्ली के लोगों का शुक्रिया कहा है। उन्होंने कहा है दिल्ली बीजेपी की कड़ी मेहनत का नतीजा है।

इसे भी पढ़ें

MCD चुनाव में हार के बाद दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष अजय माकन ने दिया इस्तीफा

MCD चुनाव के नतीजे आने के बाद मनोज तिवारी में प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि दिल्ली में जनता ने मोदी जी की नीतियों को स्वीकार किया है। इसलिए पार्टी को जीत मिली है। उन्होंने कहा कि मोदी जी के विजन को दिल्ली में लागू किया जाएगा। जनता से जो वादे किये गए हैं उसे पूरा भी किया जाएगा।

इसे भी पढ़ें

AAP में बगावत! अलका लांबा ने की इस्तीफे की पेशकश, बोली हार की वजह EVM नहीं

आम आदमी पार्टी पर हमला करते हुए उन्होंने कहा जो जनता को डराएगा भला जनता उसे वोट क्यों देगी। केजरीवाल कह रहे थे बीजेपी को वोट दोगे तो डेंगू-चिकनगुनिया हो जाएगा, केजरीवाल कह रहे थे हमने आपको मुफ्त पानी दिया है बीजेपी को वोट दोगे तो वो पानी का दोगुना दाम वसूलेंगे, केजरीवाल कहते थे हमने बिजली बिल हाफ कर दिया है अगर बीजेपी को वोट दोगे तो वो बिजली बिल दोगुना कर देंगे।

इस तरह की धमकी का जनता पर गलत असर पड़ा। जनता के बीच अपने काम के बारे में बताने के बदले वो उन्हें डराने का काम करने लगे। जनता ने केजरीवाल की निंदा की राजनीति को नकार दिया। इसी वजह से उनकी एमसीडी के चुनाव में हार हुई है और यही वजह है कि जनता ने भी उन्हें सबक सिखा दिया है।

इसे भी पढ़ें

AAP बोली ये मोदी लहर नहीं EVM लहर है, भगवंत मान बोले केजरीवाल करें आत्मचिंतन

वैसे दिल्ली का ये एमसीडी चुनाव दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी के लिए भी बड़ी चुनौती थी। इस जीत के साथ उन्होंने खुद को साबित भी किया है। जीत के बाद बीजेपी की प्रेस कांफ्रेंस में वैंकेया नायडू भी पहुंचे। जिसमें उन्होंने कहा हम अभी भी दिल्ली सरकार के साथ मिलकर काम करना चाहते हैं। लेकिन ये कहा नहीं जा सकता है कि वो हमारे साथ मिलकर काम करेंगे या नहीं।

इसे  भी पढ़ें

पत्नी से हुई लड़ाई तो फेसबुक लाइव पर बेटी की हत्या कर खुदकुशी कर ली

इसे भी पढ़ें

सुकमा में नक्सलियों ने RAMBO के हथियार से किया था CRPF पर हमला

वहीं अन्न ने कहा केजरीवाल अपनी नीतियों की वजह से हारे हैं। उन्होंने कहा केजरीवाल की कथनी और करनी में फर्क है। इसलिए उनकी हार हुई। अन्ना ने कहा कुर्सी पर बैठने के बाद इंसान के दिमाग में सत्ता का नशा चढ़ जाता है। और जब सत्ता का नशा चढ़ जाता है तो फिर वो कुछ भी सोच-समझ नहीं सकता है। अन्ना ने कहा अब केजरीवाल सोचकर भी क्या करेंगे। अब तो जनता का भरोसा उनपर से खत्म हो गया है। अब इसपर सोचने से फायदा नहीं है।

Loading...

Leave a Reply