बीजेपी शासित राज्यों में रहनेवालों को मिल सकती है खुशखबरी

नई दिल्ली: महंगाई पर मोदी सरकार लगातार विरोधियों के निशाने पर है। खासकर पेट्रोल-डीजल की कीमत को लेकर सरकार आलोचना का शिकार हो रही है। विरोधी इसलिए सरकार पर हमला कर रहे हैं क्योंकि अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत कम होने के बाद भी देश में पेट्रोल-डीजल की कीमतों में लगातार इजाफा हुआ है।

इन आलोचनाओं के बाद केंद्र सरकार में पेट्रोल-डीजल पर एक्साइज ड्यूटी में 2 रुपये की कटौती की है। जिसके बाद बुधवार से पेट्रोल-डीजल की कीमत में भी 2 रुपये की कमी आई है। लेकिन इतनी राहत नाकाफी है। जिसके बाद अब सरकार राज्यों से वैट की दर में कम से कम 5 फीसदी की कटौती करने की अपील कर रही है।

माना जा रहा है कि वित्त मंत्रालय की इस अपील का असर बीजेपी शासित राज्यों में दिखाई दे सकता है। और जिन राज्यों में बीजेपी की सरकार है वहां पेट्रोल-डीजल पर वैट में कमी की जा सकती है। जिसका असर इसकी कीमत पर भी पड़ेगा। माना जा रहा है अगर केंद्र की इस अपील पर राज्य सरकार गंभीरता दिखाती है तो पेट्रोल की कीमत में 5 रुपये के आसपास और डीजल के दाम में 4.50 रुपये के आसपास कमी आ सकती है। अगर ऐसा होता है तो ये जनता के लिए बड़ी राहत वाली बात होगी।

पेट्रोल-डीजल के बढ़त दाम और जीएसटी के बाद बने हालात के खिलाफ ट्रांसपोर्टर्स एसोसिएशन ने 9 और 10 अक्टूबर को देशभर में हड़ताल पर जाने की धमकी दी है। अगर ऐसा होता है तो जरुरी चीजों की किल्लत हो सकती है। और लोगों की परेशानी बढ़ सकती है। इस बात से भी इनकार नहीं किया जा सकता है कि इस हड़ताल की वजह से फल-सब्जी जैसी चीजों की कीमत भी बढ़ेगी।

Loading...

Leave a Reply