सासाराम से BJP सांसद छेदी पासवान की संसद सदस्यता रद्द

पटना/ बिहार: बिहार के सासाराम से बीजेपी के सांसद छेदी पासवान की संसद सदस्यता रदद् हो गई है। पटना हाईकोर्ट ने उनकी सदस्यता रद्द की। सांसद छेदी पासवान पर चुनावी हलफनामे में जानकारी छिपाने का आरोप था। उनपर ये आरोप लगाए गए थे कि नामांकन के दौरान उन्होंने अपने खिलाफ चल रहे आपराधिक मामलों की जानकारी नहीं दी। गंगा मिश्रा की याचिका पर न्यायमूर्ति केके मंडल की एकल बेंच ने ये फैसला सुनाया।

कांग्रेस की मीरा कुमार को हराकर छेदी पासवान सासाराम से सांसद चुने गए थे। कोर्ट के फैसले के बाद छेदी पासवान ने कहा ‘मेरे खिलाफ जनहित के मामले में केस दर्ज हुआ था। मेरे खिलाफ कोई आपराधिक मामला नहीं है।‘ उन्होंने कहा ‘2006 में मैं दुर्गावती परियोजना को लेकर धरने पर बैठा था। इसी मामले में मेरे खिलाफ केस दर्ज हुआ है। इसको आपराधिक मामला नहीं कहा जा सकता है।‘ उन्होंने कहा ‘हाईकोर्ट के फैसले का सम्मान करता हूं लेकिन इसके खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अपील करुंगा।‘

छेदी पासवान पहले आरजेडी में थे। 2000 से 2004 के बीच वो बिहार सरकार में मंत्री रहे थे। 2005 में छेदी पासवान आरजेडी को छोड़ जेडीयू में आ गए। जिसके बाद 2008 से 2010 के बीच नीतीश कुमार के कैबिनेट का हिस्सा रहे। 2014 में नरेंद्र मोदी से मुलाकात के बाद छेदी पासवान ने एक बार फिर करवट ली और वो बीजेपी में शामिल हो गए। जिसके बाद वो सासाराम से सांसद भी बने।

Loading...