सिद्धू के बाद अब शत्रु भी चर्चा में… वो भी AAP के हो जाएंगे ?

दिल्ली: बीजेपी के लिए ऐसा कुछ वर्तमान में हो नहीं रहा है जिससे पार्टी खुश होकर कह सके कि सबकुछ ठीक है। ऐसा इसलिए क्योंकि दलित के दंगल में पार्टी पहले से घिरी है। दलित दंगल के प्रकोप ने बीजेपी पर इस कदर अपना असर दिखाया कि पर्टी को यूपी में अपने एक नेता (दयाशंकर सिंह) को 6 साल के लिए बनवास भेजना पड़ा।

इससे पहले एक तगड़ा झटका पंजाब में लगा । जहां नवजोत सिंह सिद्धू की घुटन पार्टी में इतनी बढ़ गई कि उन्होंने इस्तीफा दे दिया। इससे पार्टी के सामने मुश्किल इस कदर बढ़ गई कि उनके नेता से जवाब देते नहीं बन रहा था। खैर जैसे तैसे पार्टी ने सिद्धू की विदाई का घूंट भी पी लिया। उसके बाद पूनम आजाद ने अपने तेवर दिखाने शुरु कर दिये। उनके हावभाव से भी ऐसा लग रहा है कि वो भी AAP की राह पकड़ेंगी, ठीक उसी तरह जैसे सिद्धू ने पकड़ी है। हलांकी अभी इन दोनों के आम आदमी पार्टी में शामिल होने का औपचारिक एलान नहीं हुआ है। लेकिन उस बात से इनकार नहीं किया जा सकता है कि बहुत जल्द बहुत कुछ बदलने वाला है बीजेपी में भी और AAP में भी।

kumar-vishwas-tweetउसी बदलाव में बात बिहार की भी हो रही है। क्योंकि वहां भी बीजेपी के एक पुराने वफादार काफी दिनों से पार्टी में घुटन महसूस कर रहे हैं। कई बार अपने बयानों से पार्टी के सामने चुनौती पेश कर चुके हैं। पार्टी के मना करने के बावजूद दिल्ली में केजरीवाल से मुलाकात भी कर चुके हैं। ये हैं शहुघ्न सिन्हा। सूत्रों के हवाले से खबर आ रही है कि शत्रुघ्न सिन्हा भी आम आदमी पार्टी का दामन थाम सकते हैं। 19 जुलाई को आम आदमी पार्टी के नेता और केजरीवाल के बेहद करीबी कुमार विश्वास के एक ट्वीट से ये चर्चा शुरु हुई। जिसमें उन्होने लिखा था कि ‘आप’ की ‘शत्रुघ्न’ ‘कीर्ति’ ‘सिद्ध’ होने को है।
कुमार विश्वास ने ये ट्वीट नवजोत सिंह सिद्धू के राज्यसभा से इस्तीफा देने के ठीक एक दिन बाद किया था। यानि तभी से भीतर –भीतर ये चर्चा शुरु हो चुकी थी। जाहिर है इसकी जानकारी और एहसास बीजेपी को भी होगी। और यही खबर बीजेपी के लिए परेशानी बढ़ाने वाली है। क्योंकि अगले साल यूपी- पंजाब में विधानसभा चुनाव है। और दोनों में बीजेपी के सामने बड़ी चुनौती है। ऐसे में अगर उसके पुराने नेता एक एक कर AAP के होने लगे तो पार्टी की नीति सवालों में खुद ही घिर जाती है।

Loading...

One thought on “सिद्धू के बाद अब शत्रु भी चर्चा में… वो भी AAP के हो जाएंगे ?

  • July 22, 2016 at 6:46 pm
    Permalink

    Dear Sidhu Ji, Please dont go with AAP PARTY its corrupted party in Delhi. Mr. Kejriwal all members, MLA or others all are top list in corruption .

Comments are closed.

%d bloggers like this: