आपातकाल के खिलाफ BJP का ब्लैक डे,इमरजेंसी के खिलाफ लड़ने वाले से मिलेंगे मोदी

मुम्बई:बीजेपी द्वारा खिलाफ देश भर में दिन भर काला दिवस मनाया जा रहा है।जिसके तहत आज मोदी मुंबई पहुंच कर आपातकाल के दौरान लड़ाई लड़ने वाले लोगो से मुलाकात कर उनका आभार व्यक्त करेंगे। मुम्बई केन्यूमरीन लाइंस स्थित बिरला मातोश्री सभागृह में 10 बजे से 1975 आपातकाल: लोकतंत्र की अनिवार्यता- विकास मंत्र- लोकतंत्र’ नाम का कर्यक्रम आयोजन किया जायेगा।

कार्यक्रम में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस, बीजेपी के प्रदेशाध्यक्ष रावसाहेब दानवे, मुंबई बीजेपी अध्यक्ष आशीष शेलार और अन्य लोग शामिल होंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एशियाई इन्फ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट बैंक (एआईआईबी) की तीसरी सालाना बैठक का भी शुभारंभ करेंगे।

आपातकाल की काली रात…

आज से करीब 43 साल पहले इंदिरा गांधी ने देश में आपातकाल लगाया था। 25 जून, 1975 को लगा आपातकाल 21 महीनों तक यानी 21 मार्च, 1977 तक देश पर थोपा गया। 25 जून और 26 जून की मध्य रात्रि में तत्कालीन राष्ट्रपति फखरुद्दीन अली अहमद के हस्ताक्षर करने के साथ ही देश में पहला आपातकाल लागू हो गया। अगली सुबह समूचे देश ने रेडियो पर इंदिरा की आवाज में संदेश सुना, ‘भाइयो और बहनो, राष्ट्रपतिजी ने आपातकाल की घोषणा की है। इससे आतंकित होने का कोई कारण नहीं है।’

आपातकाल के बाद नागरिकों के मौलिक अधिकार तक निलंबित कर दिया गया था।25 जून की रात से ही देश में विपक्ष के नेताओं की गिरफ्तारियों का दौर शुरू हो गया। जिसमे जयप्रकाश नारायण, लालकृष्ण आडवाणी, अटल बिहारी वाजपेयी, जॉर्ज फर्नाडीस आदि जैसे बड़े नेताओं को जेल में डाल दिया गया।जिसके बाद प्रशासन के उत्पीड़न की कहानी सामने आयी तो प्रेस पर भी सेंसरशीप लगा दिया गया।हर अख़बार में एक सेंसर अधिकारी बैठ गए जिनके अनुमति के बिना खबर नही छप सकती थी।

(Visited 3 times, 1 visits today)
loading...