सैल्यूट: सभी सांसदों को BJD MP बैज्यंत जय पंडा से सीख लेनी चाहिए




नई दिल्ली: बीजू जनता दल यानि BJD के सांसद बैज्यंत जय पंडा ने सभी सासंदों के लिए एक मिसाल पेश की है। शीत सत्र में एक भी दिन सदन की कार्यवाही नहीं होने की वजह से उन्होंने अपनी सैलरी और अलाउंस वापस कर दिया। बैज्यंत जय पंडा ऐसा पिछले चार साल से करते आ रहे हैं।

panda-tweetइसके बारे में जब बैज्यंत से पूछा गया तो उन्होंने कहा संसद में जितने दिन काम नहीं होता है उतने दिन की सैलरी और अलाउंस वापस कर देता हूं।
बैज्यंत ओडिशा से सांसद हैं। उन्होंने कहा ‘यह सिर्फ एक इशारा है। संसद की कार्यवाही में खर्चे की भरपाई का तरीका नहीं। हंगामे की वजह से देश की बड़ी रकम बर्बाद हो जाती है। हम सांसद सभी फायदे लेते हैं लेकिन जिस काम की उम्मीद हमसे होती है वो ठीक से नहीं करते। मैंने 16 साल में कभी हंगामा कर कार्यवाही नहीं रुकवाई। उन्होंने कहा संसद में बेहतर तरीके से काम हो इसके लिए मैं नियमों में बदलाव का समर्थन करता हूं। फिलहाल सैलरी लौटाकर कम वक्त में जितना बन सकता है करता हूं। उन्होंने कहा कि ऐसा करने का फैसला उनका व्यक्तिगत है।‘

बैज्यंत पंडा संसद में कैंटीन में मिलनेवाली सब्सिडी खत्म करने की मांग भी कर चुके हैं। उन्होंने कहा जिस तरह से सरकार ने जनता से एलपीजी सिलेंडर की सब्सिडी छोड़ने की अपील की थी उसी तरह से सांसदों को संसद के कैंटीन में मिलनेवाली सब्सिडी खुद ही छोड़ देनी चाहिए।

Loading...