योगी की राह पर बिहार के सीएम नीतीश कुमार, अवैध बूचड़खानों पर लटका ताला

पटना/बिहार: उत्तर प्रदेश में सीएम योगी ने अवैध बूचड़खानों पर ताला लगवाया तो झरखंड की रघुवर सरकार ने भी 72 घंटों में राज्य के सभी अवैध बूचड़खानों को बंद करने का फरमान जारी कर दिया। नजीता ये हुआ कि झारखंड के मुर्गा मंडी से लेकर मीट बाजार तक में सन्नाटा फैल गया। क्योंकि सरकार की तरफ से बिना लाइसेंस काम करनेवाले सभी दुकानें बंद करवा दी थी।

झारखंड के बाद अब बिहार में अवैध बूचड़खानों पर कार्रवाई शुरु हुई है। बिहार के रोहतास जिले में 7 अवैध बूचड़खानों को सील कर दिया गया है। पटना हाईकोर्ट ने निर्देश दिया था कि रोहतास के सभी अवैध बूचड़खानों को 6 हफ्तों के भीतर बंद कर दिया जाए। जिन बूचड़खानों को सील किया गया है उनका लाइसेंस 31 मार्च तक रिन्यू नहीं हुआ था। ये बूचड़काने रोहतास के बिक्रमगंज में थे।

ये भी पढें :

-बच्चे ने CM से पूछा ‘18 महीने से मेरे पिता जेल में क्यों हैं’ योगी ने जांच शुरु की जांच
-गुजरात में गो हत्या करने पर होगा आजीवन कारावास, जमानत भी नहीं मिलेगी

बिहार विधानसभा में भी अवैध बूचड़खानों को बंद करने का मुद्दा बीजेपी की तरफ से उठाया जा चुका है। बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष प्रेम कुमार ने कहा था अगर राज्य सरकार अवैध बूचड़खानों के खिलाफ कार्रवाई नहीं करती है तो पार्टी सड़क से लेकर सदन तक आंदोलन करेगी।

बिहार सरकार में पशुपालन मंत्री अवधेश कुमार सिंह ने कहा राज्य के तमाम अवैध बूचड़खानों को बंद करने के लिए जिलाधिकारियों को पत्र लिखा जा चुका है। जानकारी के मुताबिक बिहार में इस वक्त तकरीबन 150 अवैध बूचड़खाने चल रहे हैं।

Loading...

Leave a Reply