सुपौल-सहरसा के लोगों लिए राहत वाली खबर, वाहन चोर गिरोह का सरगना पकड़ा गया

प्रदीप जैन/सुपौल
सुपौल/बिहार:  सुपौल पुलिस द्वारा वाहन चोरी के मामले मे अब तक का सबसे बड़ा खुलासा किया गया है। जिससे सुपौल ही नहीं सहरसा में भी वाहन चोरी पर पर अंकुश लगने की उम्मीद जताई जा रही है। पुलिस के बाईक चोरी करने वाले गिरोह के सरगना को गिरफ्तार करने का दावा किया है। पहली नजर में देखकर कोई नहीं बता सकता कि वो एक वाहन चोर है। लेकिन पुलिस ने जब उसकी हकीकत बयां की तो हर कोई हैरान रह गया।
इसे देख आम लोग भीख मागने वाला दिव्यांग समझने की भुल कर बैठेंगे लेकिन गिरफ्तार सरगना चंदन पासवान ही दो जिलों मे वाहन चोरी की बड़ी घटना को अंजाम दिलाने का काम करता था। किशनपुर, पिपरा और भपटियाही पुलिस ने संयुक्त कार्यवाही में बाइक चोर सहित चोरी की गयी करीब आधा दर्जन  बाइक को बरामद कर लिया है । सबसे बड़ी बात ये है कि बाइक चोर गिरोह का  सरगना एक दिव्यांग निकला । जो दिन भर बाजार में भीख मांगता था और वाहनों की रेकी करता था। जिसके बाद इसकी सूचना गिरोह के अन्य सदस्यों को देता था ।
जिसके बाद गिरोह के सदस्य सक्रीय हो जाते थे और चोरी के बारदात को अंजाम देते थे । गिरोह के सरगना दिव्यांग चन्दन कुमार पथरा गांव का रहने वाला है जहां से आधा दर्जन  चोरी की  बाईक भी  बरामद की गयी है ।
दरअसल समस्तीपुर मे एक ऑटो की चोरी हुई थी। जिसकी तलाश में समस्तीपुर पुलिस सुपौल पहुंची थी । जहां सुपौल पुलिस की मदद से की गई जांच मे बड़ा खुलासा हुआ।
उसके साथ में गिरफ्तार  छोटू उर्फ़ सुभाष यादव भी पथरा का ही रहने वाला है। इसके अलावे मोजाहिद ,संपत दोनों भी पकड़े गए हैं। गिरफ्तार मो. मोजाहीद चोरी की बाईक को नेपाल तक पहुंचाता था । वहीं चोरी की गई ऑटो को काट कर कबाड़ी मे बेचने का भी काम करता था । ये अब तक की  बड़ी सफलता मानी जा रही है । जिससे आने वाले समय में दो जिलों मे चोरी की घटनाओं पर विराम लग सकता है।
Loading...