सुपौल: क्या बिहार में शराबबंदी है, हालात तो कुछ और ही बताते हैं, Video

प्रियांशु आनंद/सुपौल
सुपौल/बिहार:  शराबबंदी कानून का इस कदर उल्लंघन हो रहा है कि बिहार में हर रोज शराब से जुडी घटना आम हो गयी है। कहीं शराबी द्वारा हंगामा तो कही शराब जब्त। पर इस बार तो हद्द हो गयी। सुपौल के प्रतापगंज में शराब के नशे में धुत 3 शराबी ने थाना में घुस कर घंटों तक हंगामा मचाया ।
इस बीच प्रतापगंज पुलिस मूकदर्शक बन कर तमाशा देख रही थी।शराबी को ना तो शराब  बंदी के कानून का खौफ था और न ही पुलिस का खौफ। वो घंटों हंगामा और गाली गलौच करता रहा । इस घटना से जुड़ा वीडियो भी सामने आया है। जिसमें साफ दिख रहा है कि शराबी को इस बात का जरा भी खौफ नहीं है कि वो थाने की चहारदीवारी को पार कर गया है। शराब के नशे में वो अपनी धुन में मस्त है। इस बात से बेपरवाह कि बिहार में शराबबंदी है। और खुलेआम या छिपे तौर पर शराब पीना, बेचना या रखना कानूनन जुर्म है। लेकिन ये बात अब पुरानी हो चुकी है। सच्चाई ये है कि जो शराब पीना चाहते हैं वो खुलेआम जब जहां चाहते हैं शराब पीते हैं। कानून के रखवालों का कद उनके सामने बहुत ही बौना है।
जाहिर है शराबी की जिम्मेदारी लेने वाले ही जब इसको लेकर असंवेदनशील  हो तो शराबबंदी कानून का क्या होगा । थाने के समीप लोगों की भीड़ लग गयी। पर पुलिस वाले नहीं दिख रहे थे। घटना के बारे में  एसपी ने मामले पर संज्ञान लेते हुए वीडियो के आधार पर करवाई करने की बात कही है।
वैसे इस तरह का ये पहला मामला नहीं है। सियासी दलों के कुछ नेताओं से लेकर कर्मचारी तक ने बिहार में शराबबंदी कानून का उल्लंघन किया है। हाल ही में बीजेपी के एक नेता ने शराब के नशे में मुजफ्फरपुर में नौ स्कूली बच्चों की हत्या कर दी, भागलपुर में आज ही को सुबह सवेरे पुलिस विभाग के एक ड्राइवर ने शराब के नशे में पुलिस वाले को ही जिप्सी से टक्कर मार दी। ये तो केवल बानगी हैं। ऐसे कई मामले सामने आ चुके हैं। लेकिन दूसरी तरफ सरकार इस दावे पर अड़ी है कि बिहार में शराबबंदी पूर्ण सफल है।
Loading...